National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

जेल में व्यायाम शाला का मिल रहा है आनन्द

इस बार में करीब दो से 250 लोगों करते हैं मशीनों पर शरीर को बेहतर रखने का प्रयास

कैदियों के लिए देश की पहली ओपन जिम स्थापित

फरीदाबाद। जिला कारागार नीमका में इन दिनों बंदी और कैदी यहां खुली व्यायाम शाला का आनन्द ले रहे है। यहां अलग-अलग क्रम में करीब दो हजार कैदी और बंदी इस व्यायाम शाला से अपने शरीर को दूरस्त रखने का प्रयास कर रहे हैं। इतना ही नहीं इस बीच समय निकाल पर यहां तैनात कर्मी भी इन मशीनों पर हाथ आजमा रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि देश की नीमका फरीदाबाद पहली ऐसी जेल है जहां इस प्रकार की कैदियों के लिए ओपन जिम स्थापित की गई है। इस ओपन जिम में अधिक तादाद में बंदी व कैदी जिम का आनन्द ले रहे हैं। यह जिम प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, महा मंडलेश्वर ज्ञानानंद महाराज के अलावा शहर के विधायक व अधिकारियों की उपस्थिती में खोला गया था। जो करीब दो बीघा में है। जहां एक साथ करीब दो से ढाई सौ लोगों द्वारा व्यायाम करने की व्यवस्था की गई है। इस जिम का उद्ेश्य कैदी व बंदियों को मानसिक व शारीरिक तरीके से बेहतर रखना है। जिसके के लिए सुबह सवेरे से ही ओपन जीम में इन लोगों की कतार लगनी शुरू हो जाती है। कहा तो यह भी जा रहा है कि जेल में यह जिम लगने के बाद से बंदी व कैदियों में अपने आप को मानसिक व शारीरिक तौर पर फीट रखने का एक क्रेज निकल पड़ा रहा है। जिसमें उसको सुबह सवेरे उठने से इनका बौद्ध्कि विकास बढ रहा है।

यहां दिया जा रहा श्लोक सहित गीता का ज्ञान

इसके अलावा बंदी व कैदियोंं के मानसिक स्तर को बेहतर करने के लिए जेल स्थित एक बड़े  हाल में गीता का ज्ञान दिया जा रहा है। इस ज्ञान के लिए 20-20 लोगों की टीमें बनाई गई है। इस हाल में उपस्थित लोगों द्वारा दो शिफ्टों में गीता का ज्ञान दिया जाता है। जिसमें जीवन के उद्देश्यों के अलावा उसकी शंका का समाधान करने का प्रावधान किया गया है। जहां दो अलग-अलग समूह में यहां कार्य किया जा रहा है।

मानसिक विकास के लिए की गई व्यवस्था

इस संदर्भ में जेल अधीक्षक अनिल कुमार कहते हैं कि जेल में खोले गए जिम के लिए एक नामी कंपनी एस्कार्ट्स द्वारा बंदी व कैदियों के लिए जिम की मशीनरी डोनेट किया गया है जबकि जेल में दिया जाने वाले गीता का ज्ञान महा मंडलेश्वर ज्ञानानंद महाराज के सांध्यिय में चल रहा है। जिसके द्वारा कुछ लोगों को निपुण कर सके द्वारा ज्ञान का प्रचार व प्रसार किया जा रहा है। जिसके लिए जेल में ही जीओ गीता संस्कार के नाम से केन्द्र बनाया गया है जहां गीता का ज्ञान दिया जाता है। इतना ही नहीं इस कक्ष की दीवारों में गीता के श्लोकों से जीवन के गुड रहस्य को समझाया गया है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar