National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

टैक्स देने के बावजूद भी सरकार व्यपारियो के लिए कोई रियायत नहीं – बजरंग गर्ग

चण्डीगढ़। हरियाणा प्रदेश व्यापार मण्डल के प्रान्तीय अध्यक्ष व हरियाणा कान्फैड के पूर्व चैयरमैन बजरंग गर्ग ने कहा कि हरियाणा सरकार के आंकड़ों के अनुसार प्रदेश का व्यापारी व आम जनता ने सरकार को ईमानदारी से टैक्स देकर सरकार को पहले से ज्यादा हर साल टैक्स देने का काम किया है। जबकि सरकार के मुताबिक 2013-14 वर्ष में 25567 करोड़ रुपये टैक्स की वसूली हुई और 2017-18 में बढक़र 41000 करोड़ हो गई है। टैक्स बढ़ोतरी से साफ सिद्ध होता है कि प्रदेश का व्यापारी ईमानदारी से सरकार के खजाने में धन जमा करा रहा है। प्रान्तीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा कि बड़े अफसोस की बात है कि व्यापारियों द्वारा करोड़ों-अरबों रुपये सरकार को टैक्स देने के बावजूद भी सरकार द्वारा व्यापारियों को किसी प्रकार की रियायतें ना देने के कारण आज प्रदेश में व्यापार व उद्योग पीछड़ता जा रहा है। जबकि इस सरकार ने अपने लगभग 45 महीने के कार्यकाल में व्यापारी व आम जनता को किसी प्रकार की टैक्सों में रियायतें देने की बजाए बिजली व पानी की दरों में बढ़ोतरी व हर व्यापारी पर नया व्यवसाय कर लगाने के साथ-साथ आढ़तीयों के लाईसैंस फीसों में 10 गुना बढ़ोतरी करके व्यापारी व आम जनता की कमर तोड़ दी। कानून व्यवस्था की स्थिति लगातार खराब होती जा रही है। गर्ग ने कहा कि केन्द्र सरकार ने भी टैक्सों को कम करने की बजाए 1 जुलाई 2017 से अनाप-शनाप वैट कर में बढ़ोतरी करके जीएसटी देश में लागू कर दिया है। जबकि पूरे विश्व में जीएसटी के तहत टैक्स की दरें सबसे ज्यादा भारत देश में है। श्री गर्ग ने कहा कि सरकार को व्यापारी व आम जनता से टैक्स वसूलने के साथ-साथ जनता को हर प्रकार की सुविधा देने का फर्ज बनता है, जो सरकार नहीं दे रही है। प्रान्तीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा कि जब सरकार टैक्सों में रियायतें ना देकर टैक्सों में बढ़ोतरी करेगी तो देश व प्रदेश में व्यापार कैसे बढ़ेगा। यह व्यापारी व उद्योगपतियों के लिए चिन्ता का विषय है। सरकार को देश व प्रदेश में व्यापार को बढ़ावा देने के लिए व्यापारियों को ज्यादा से ज्यादा रियायतें देने की जरूरत है ताकि देश व प्रदेश में व्यापार बढ़ सके और बेरोजगार युवाओं को व्यापार व उद्योग के माध्यम से रोजगार मिल सके, यह जरूरी है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar