National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

डीएवी महाविद्यालय में ‘कश्मीर मंथन’ गोष्ठी का हुआ आयोजन

फरीदाबाद। एन.एच.-3 स्थित डी.ए.वी. शताब्दी महाविद्यालय के इतिहास विभाग द्वारा कश्मीर मुददे पर एक दिवसीय मन्थन का आयोजन किया गया। इस बौद्धिक मन्थन में मुख्य अतिथि के रुप में प्रो. जावेद अहमद, अध्यक्ष, इतिहास विभाग, जामिया मिलिया इस्लामिया, नई दिल्ली ने शिरकत की। आधुनिक इतिहास के मर्मश विद्वान प्रो.जोवद द्वारा लम्बे समय से कश्मीर मुददे पर शोध किया गया है। इसी शोध के परिणाम स्वरुप कश्मीर समस्या पर उनकी 03 शोध पुस्तकें भी छप चुकी हैं। इस गोष्ठी की अध्यक्षता कालेज प्राचार्य डॉ.सतीश आहूजा जी ने की। कश्मीर समस्या पर इस मन्थन का आयोजन डी.ए.वी. कालेज के इतिहास विभागाध्यक्ष प्रो.दिनेश चन्द्र कुमेड़ी के संयोजन में किया गया। कालेज के इतिहास एसोसिएशन के अन्तर्गत लगभग 180 छात्र-छात्राओं ने इस मंथन में सक्रिय भागीदारी की। विद्वान वक्ताओं के अतिरिक्त इतिहास विभाग के छात्र-छात्राओं ने इस विषय पर बडे संजीव, विचारणीय एवं बौद्धिक प्रश्न उठाये एवं अपने विचार भी साझा किये। कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए प्राचार्य डॉ.सतीश आहूजा ने विद्वान वक्ता प्रो. जावेद अहमद का पुष्पाहार देकर स्वागत किया। इतिहास विभाग के अनेक छात्र-छात्राओं ने भी उनका स्वागत किया। मंच संचालन करते हुए आज की विचार गोष्ठी का आगाज करते हुए इतिहास विभाग के अध्यक्ष प्रो. दिनेश चन्द्र कुमेड़ी ने भारत विभाजन की पृष्ठभूमि, 565 भारतीय रियासतो की स्थिति, गृहमन्त्री सरदार पटेल द्वारा 362 राज्यों का विलय, अन्य 3 राज्यों के शासकों एवं जनता की मनोदषा एवं स्थिति, पाकिस्तान द्वारा 1947 में कवाइली घुसपैठ एवं आक्रमण, राजा हरि सिंह द्वारा कश्मीर का भारत में षर्तिया विलय आदि मुद्दों को संक्षिप्त तरीके से रखा। इस संगोष्ठी में कालेज के अनके प्राध्यापर्को डा.सविता भगत, डा.सुनीति आहूजा, डा.शुभ दर्शन, प्रो. मुकेश बंसल, प्रो. अरुण भगत, डा. डी. पी. वैध, डा. जितेन्द्र धुल, डा. नरेन्द्र दुग्गल आदि ने अपने विचार साझा किये।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar