National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

डेरा प्रमुख पर फैसले के पहले छावनी बना पंचकूला, धारा 144 लागू

चंडीगढ़। साध्वी यौन शोषण मामले में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह पर आने वाले फैसले से पहले पंचकूला को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। फैसले के बाद किसी भी स्थिति से निपटने के लिए सरकार ने 115 कंपनियां पैरामिलिट्री फोर्स की और केंद्र सरकार से मांगी है। इसके अलावा सभी जिलों में धारा 144 लागू कर दी गई है। राज्य सरकार को आशंका है कि सीबीआई कोर्ट का फैसला आने के बाद डेरा समर्थकों में बेचैनी बढ़ सकती है। इस दिन भारी तादाद में गिरफ्तारियां होने की आशंका है। इसके लिए सरकार ने जेल में तो इंतजाम किए ही हैं, साथ ही सरकारी इमारतों और स्कूल व कॉलेजों को भी जेल के रूप में चिन्हित करने का निर्णय लिया है। हरियाणा के होम सेक्रेटरी रामनिवास ने कहा कि संदिग्ध लोगों की पहचान कर तुरंत गिरफ्तारी के आदेश दे दिए गए हैं। जिस दिन सीबीआई कोर्ट का फैसला आएगा उस दिन डेरा समर्थकों की संभावित गिरफ्तारी के मद्देनजर जेलों से बाहर भी बंदोबस्त किए गए हैं। सरकारी भवनों को जेल के रूप में नामित करने के लिए अधिसूचना जारी की जा रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है और किसी को कानून हाथ में लेने की इजाजत नहीं दी जाएगी। रामनिवास के अनुसार डेरा प्रेमियों के साथ लगातार बैठकों के दौर जारी है और उम्मीद की जा सकती है कि सब कुछ शांत रहेगा। उन्होंने बताया कि अभी तक जितने भी पैरामिलिट्री फोर्स आई हैं, सभी को धीरे-धीरे तैनात किया जा चुका है। सभी जिलों में धारा 144 लागू कर दी गई है। 25 अगस्त को चंडीगढ़ के सभी खेल ग्राउंड अस्थायी जेल में तब्दील हो जाएंगे। वहीं कई अधिकारियों को मजिस्ट्रेट पावर का अधिकार भी होगा।

डेरा प्रभाव वाले क्षेत्रों में कभी भी बंद हो सकता है इंटरनेट

डेरा प्रेमियों के पंचकूला पहुंचने की सूचना पर सार्वजनिक स्थलों पर पुलिस ने चैकिंग अभियान शुरू कर दिया है। वहीं पुलिस मुलाजिम किसी भी तरह की स्थिति से निपटने के लिए तैयार नज़र आ रहे हैं। सुरक्षा के लिहाज से डेरे के प्रभाव वाले विभिन्न जिलों में कभी भी इंटरनेट सेवा बंद की जा सकती है, ताकि संदेश का आदान-प्रदान हो सके। खुला पेट्रोल बेचने पर रोक लगाई जा चुकी है। कानून व्यवस्था बिगड़ने के अंदेशे को लेकर पुलिस ने हरियाणा से लगते पंजाब-राजस्थान बॉर्डर को 30 अगस्त तक के लिए सील कर दिया है। बाॅर्डर के साथ-साथ जिले में कई प्रमुख स्थानों पर पुलिस नाके स्थापित किए गए हैं। जहां पर छह से आठ पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। जो वाहनों की चेकिंग भी कर रहे हैं।

डेरे की मीटिंगें और सत्संग पर खुफिया तंत्र की नजर

दूसरी तरफ डेरा प्रेमियों की कारगुजारी पर नजर रखने के लिए खुफिया तंत्र को भी अलर्ट कर दिया गया है। डेरे की मीटिंगों से लेकर हर गतिविधियों की जानकारी प्रशासन के साथ सरकार को भेजी जा रही है। पुलिस ने भी किसी को भी असलहा के साथ एक जगह से दूसरी जगह जाने पर पाबंदी लगा दी है।अवहेलना करने पर सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा सत्संग के दौरान कौन क्या कह रहा है, इसकी पूरी रिपोर्ट ली जा रही है। खुफिया एजेंसियां अपने-अपने स्तर पर जानकारियां जुटाकर प्रदेश सरकार प्रशासन तक पहुंचा रही है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar