National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

डेरा सच्चा सौदा : हनीप्रीत वांटेड की सूची में टॉप पर

चंडीगढ़। गुरमीत को दोषी करार देने के बाद पंचकूला को हिंसा में झोकने वाले डेरा के 43 दागदार चेहरे बेनकाब हो गए। उपद्रव के 24 दिन बाद हरियाणा पुलिस द्वारा सार्वजनिक की गई सूची में हनीप्रीत टॉप पर है, जबकि वारदात का मास्टरमाइंड आदित्य इंसां दूसरे स्थान पर। आरोपियों की गिरफ्तारी के तमाम प्रयास नाकाम रहने के बाद अब पुलिस ने आमजन से मदद मांगी है। इनके बारे में सूचना देने वालों के नाम पते गोपनीय रखे जाएंगे। 25 अगस्त को पंचकूला की सीबीआइ अदालत द्वारा गुरमीत को दोषी ठहराने के बाद डेरा सच्चा सौदा की प्रबंधन समिति से जुड़े लोगों ने सोची-समझी साजिश को पूरा पंचकूला हिंसा और आगजनी के हवाले कर दिया था। उपद्रव में 40 लोगों की मौत हुई और करोड़ों की संपत्ति का नुकसान हुआ। तभी से हर कोई जानना चाहता था कि आखिर पंचकूला को जलाने वाले लोग कौन थे। अब हरियाणा पुलिस ने 43 आरोपियों की सूची अपनी वेबसाइट पर डालकर पब्लिक से इनकी गिरफ्तारी के लिए मदद मांगी है। इसके अलावा अभियुक्तों के फोटो सार्वजनिक स्थलों पर भी चस्पां किए जाएंगे ताकि इनसे संबंधित कोई भी सूचना आमजन पुलिस तक पहुंचा सके।

गिरफ्तारी के लिए फोटो ही सहारा

उपद्रव के लिए चिन्हित 43 लोगों में से हनीप्रीत और आदित्य को छोड़ दिया जाए तो अन्य अभियुक्तों के बारे में पुलिस के पास वीडियोग्राफी व फुटेज में मिले फोटो के अलावा कुछ और सुराग नहीं है। यहां तक कि इनका नाम-पता कुछ मालूम नहीं है। हरियाणा पुलिस द्वारा वेबसाइट पर लिस्ट डालते ही सभी अभियुक्तों के फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गए।

उपद्रवियों की दूसरी लिस्ट भी जल्द होगी सामने

पंचकूला और सिरसा में हिसा व आगजनी करने वाले उपद्रवियों की दूसरी लिस्ट जल्द ही सामने होगी। पहली सूची में शामिल 43 अभियुक्तों के नाम सार्वजनिक कर विशेष जांच दल (एसआइटी) बाकी बचे उपद्रवियों को चिन्हित करने में जुटे हैं। मामले में अभी तक कुल 1092 लोगों को हिरासत में लिया गया है। डीजीपी बीएस संधू ने कहा कि नोटिस के बावजूद पुलिस जांच में शामिल नहीं होने वाले लोगों को भगोड़ा घोषित कर उनके गिरफ्तारी वारंट जारी किए जाएंगे।

नेपाल नहीं भारत में ही है हनीप्रीत

डीजीपी ने दावा किया कि हनीप्रीत देश में ही कहीं छिपी है। हनीप्रीत को पकड़ने के लिए नेपाल से सटे उत्तर प्रदेश, बिहार और उत्तराखंड राज्यों की पुलिस की भी मदद ली जा रही है। पुलिस ने अभी तक जितने भी लोग गिरफ्तार किए, उनसे मिले संकेत के आधार पर दावा किया जा रहा कि हनीप्रीत नेपाल भाग गई है। ऐसी भी खबरे हैं कि हनीप्रीत को नेपाल में इटहरी के पास स्थित धरान इलाके में देखा गया है। वह तराई के सुनसरी जिले में हो सकती है। 2015 में जब नेपाल में भूकंप आया था, तब राम रहीम ने नेपाल के नुआटोल जिले में राहत अभियान चलाया था। इस इलाके में डेरा के काफी अनुयायी हैं। हालांकि संधू ने कहा कि हनीप्रीत के नेपाल में होने का कोई इनपुट नहीं है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar