National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

तिगांव क्षेत्र में नहीं चलने देंगे झूठ, लूट व बेईमानों की धमक : ललित नागर

विधायक ने गांव चीरसी में सुनीं लोगों की समस्याएं

मनोज तोमर/विजय न्यूज ब्यूरो

फरीदाबाद। तिगांव विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेसी विधायक ललित नागर ने कहा है कि तिगांव सहित समूचे फरीदाबाद जिले में झूठ, लूट व बेईमानों की धमक नहीं चलने दी जाएगी और वह सरकार की आड़ में लूट मचा रहे नेताओं के भ्रष्टाचार की कलई विधानसभा में खोलते रहेंगे। उन्होंने कहा कि तिगांव क्षेत्र की चौरासीपाल ने जिस आशा और विश्वास के साथ उन्हें विधायक के रुप में क्षेत्र का प्रथम सेवक चुनकर भेजा था, उन्होंने भी उनकी आशाओं पर पूरी तरह से खरा उतरने का काम किया है, इसी का परिणाम है कि उन्होंने हाल ही में हरियाणा के उस सबसे बड़े महान सदन जिसमें कभी पूर्वमंत्री गजराज बहादुर नागर जैसे प्रखर वक्ता अपने क्षेत्र की आवाज को बुलंद करते थे, ठीक उसी प्रकार उन्होंने भी तिगांव क्षेत्र के विकास के साथ हो रहे भेदभावपूर्ण व्यवहार व क्षेत्र में सरकार के संरक्षण में हो रही लूट व बेईमानों के भ्रष्टाचार की पोल खोलने का काम किया है, जिससे तिगांव क्षेत्र का नाम हरियाणा ही नहीं बल्कि समूचे देश में गूंजा है। उन्होंने कहा कि वह कभी भी बेईमानों के समक्ष न झुके है और न झुकेंगे और सदा चौरासीपाल की पगड़ी को तिगांव से लेकर चंडीगढ़ तक ऊंचा करने काम करेंगे। श्री नागर आज ‘चलो गांव की चौपाल’ कार्यक्रम के तहत गांव चीरसी की चौपाल पर आयोजित स्वागत समारोह में उपस्थित ग्रामीणों को संबोधित करते थे। गांव में पहुंचने पर श्री नागर का चीरसी के सरपंच सूबे सिंह व गांव की मौजिज सरदारी द्वारा सम्मान रुपी पगड़ी बांधकर एवं फूल माला पहनाकर उनका जोरदार स्वागत किया गया वहीं सरपंच सूबे सिंह ने इलाके की ओर से विश्वास दिलाया कि जो संघर्ष रुपी लौ विधायक ललित नागर ने जलाई है, वह उसे बुझने नहीं देंगे तथा हमेशा उनके इस संघर्ष में क्षेत्र की जनता सारथी बनने का काम करेगी। वहीं ग्रामीणों ने विधायक के समक्ष गांव की समस्याएं रखते हुए बताया कि गांव में बिजली की विकराल समस्या है, बिजली के खम्बों पर लगे तारें जर्जर हालत में है, उनको तुरंत बदलवाया जाए वहीं गांव में कोई जच्चा-बच्चा केंद्र नहीं है, इसलिए यहां सरकारी स्वास्थ्य केंद्र व पशुओं के लिए भी अस्पताल बनवाया जाए। इसके अलावा गांव में सरकार द्वारा बुजुर्गाे के साथ भेदभावूपर्ण नीति अपनाई जा रही है, जिससे गांव के भारी तादाद में बुजुर्ग आज भी पेंशन से वंचित है इसलिए संबंधित अधिकारियों को आदेश देकर बुजुर्गाे की सम्मानरुपी पैंशन बवाने का काम करें वहीं फरीदाबाद से चीरसी  तक हरियाणा राज्य परिवहन निगम की बसें चलवाई जाए। ग्रामीणों की समस्याएं सुनने के बाद विधायक ललित नागर ने आश्वासन दिया कि इन समस्याओं के समाधान के लिए वह संबंधित अधिकारियों को निर्देश देकर उनका हल करवाने का भरसक प्रयास करेंगे। ग्रामीणों को संबोधित करते हुए विधायक ललित नागर ने कहा कि तिगांव क्षेत्र की बहादुर जनता के आर्शीवाद का ही परिणाम है कि जब उन्होंने विधानसभा में क्षेत्र के साथ हो रहे भेदभाव एवं भाजपा नेताओं के भ्रष्टाचार को बुलंद आवाज को बुलंद तरीके से उठाया तो प्रदेश के मुख्यमंत्री को स्वयं दो बार खड़े होकर कार्यवाही का आश्वासन देना पड़ा वहीं सदन में संसदीय कार्य मंत्री रामबिलास शर्मा सहित समूची सरकार भ्रष्टाचारियों को बचाने के लिए एकजुट हो गई, लेकिन तिगांव क्षेत्र की आवाज तब तक नहीं रुकी, जब तक सदन में भ्रष्टाचारियों के खिलाफ कार्यवाही करने का ठोस आश्वासन न दिया गया हो। ये तिगांव क्षेत्र के लिए गौरव की बात है। उन्होंने भाजपा सरकार के तीन वर्ष पर भी जमकर हल्ला बोलते हुए कहा कि भाजपाई आखिर तीन साल के कौन से विकास पर जश्र मनाने का काम कर रहे है क्योंकि तिगांव क्षेत्र की जनता जानती है कि तीन साल में इस क्षेत्र में जमीनी स्तर पर कोई कार्य हुआ ही नहीं है तथा विकास केवल कागजों तक ही सिमटकर रह गया है। चुनाव पूर्व भाजपाईयों ने 154 वायदे जनता के समक्ष किए थे, लेकिन तीन साल में उनमें से एक भी वायदा सरकार में बैठे नेता पूरा नहीं कर पाए, केवल जो उद्घाटन किए जा रहे है वो तो कांग्रेस सरकार शुरु कराई गई परियोजना की देन है। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि झूठ, लूट व जुमले व दबंगई की कुर्सी पर बैठे लोगों से निजात पाने के लिए एकजुट हो कांग्रेस के झंडे तले संघर्ष का बिगुल फूंककर कांग्रेस सरकार चुनने का काम करें, जिससे कि तिगांव क्षेत्र समुचित विकास का मार्ग प्रशस्त हो सके। इस अवसर पर गांव चीरसी के सरपंच सूबे सिंह, चन्दन सरपंच, सतवीर सरपंच, रतनपाल सरपंच, रामे सरपंच, विनोद सरपंच, धर्मसिंह सरपंच,  धर्मपाल सरपंच, रनवीर सरपंच, सूरजा सरपंच, अशोक यादव, किशोरी गिरदावर, यशपाल भाटी, ताराचन्द यादव, रविन्द्र उर्फ बबलू यादव, मनीष यादव, जयप्रकाश यादव, गोपीचंद शर्मा, पूर्व सरपंच रामपाल शर्मा, मनीष यादव, बृजन यादव, भीकार सिंह, श्यामवीर, बलवीर सिंह,वेदपाल शर्मा, ऋषिपाल यादव, अरुण बोहरा, मुकेश कुशवाहा, ब्रह्म सिंह, मुंशीनाथ, मूलचंद कश्यप, सूरजपाल भूरा चेयरमैन, सुनील चेयरमैन, बाबू लाल रवि, विरेंदर नागर, सुनील शर्मा, सुभाष सिंह, जगदीश नागर, कल्लूराम, बलवीर सिंह, फतेहचंद सहित अनेकों ग्रामीण मौजूद थे।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar