National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

तीन कालोनियों को तोड़े जाने के विरोध में महापंचायत में जुटे हजारों लोग

> पीडि़तों का ऐलान, मकान तोडऩे से पहले हमारे शरीर के ऊपर से गुजरेगा बुलडोजर
> करवाचौथ के दिन महापंचायत में भूखी-प्यासी महिलाएं सरकार के खिलाफ करती रही नारेबाजी

मनोज तोमर/विजय न्यूज ब्यूरो
फरीदाबाद। नगर निगम द्वारा तीन कालोनियों शिवालय, वाल्मीकि कालोनी व हरिजन बस्ती में सैकड़ों घरों को तोड़े जाने के नोटिस दिए जाने के विरोध में आज झुगगी झोंपड़ी बचाओ एकता मंच के बैनर तले शिवालय चौक पर सर्वजातीय महापंचायत का आयोजन किया गया। महापंचायत में हजारों-हजारों की संख्या में लोगों के साथ-साथ महिलाओं ने भाग लेकर भाजपा सरकार एवं निगम प्रशासन के विरोध में जमकर गुस्सा दर्ज करवाते हुए ऐलान किया कि अगर 9 अक्तूबर को नगर निगम के तोडफोड दस्ते ने उनके मकानों को तोडऩे की कोशिश की तो निगम के बुलडोजर को उनके मकान तोडऩे से पहले उनके शरीर के ऊपर से गुजरना होगा। उक्त पीडि़त लोगों के आंदोलन का आज दूसरा दिन था। कल शनिवार को इन कालोनी के हजारों लोगों ने सडक़ों पर आकर रोष मार्च निकालकर प्रदर्शन किया था, जबकि आज इस आंदोलन को महापंचायत में तब्दील किया गया है। महापंचायत की अध्यक्षता लीलूराम भगवाना ने की। महापंचायत में प्रदेश के अनेकों वरिष्ठ दलित नेताओं के अलावा कांग्रेसी विधायक ललित नागर, विधायक चंद्र भाटिया, कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता विकास चौधरी, पूर्व मुख्य संसदीय सचिव शारदा राठौर, पूर्व आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता धर्मबीर भड़ाना, प्रदेश महासचिव पं. राजेंद्र शर्मा, राकेश भड़ाना, सरदार परमजीत सिंह गुलाटी, पूर्वमंत्री पं. शिवचरण लाल शर्मा, पूर्व जिलाध्यक्ष गुलशन बगगा, एस.एल. शर्मा, पूर्व पार्षद राजेश भाटिया, नलिन हुड्डा, आभास चंदीला, नगर पालिका कर्मचारी संघ के प्रदेशाध्यक्ष नरेश शास्त्री, नगर निगम सफाई मजदूर यूनियन के प्रधान बलवीर बालगुहेर, सुनील कंडेरा, डा. हेमराज ढींगड़ा आदि मुख्य रुप से मौजूद थे।

तीन कालोनियों को तोड़े जाने के विरोध में महापंचायत में जुटे हजारों लोग

महापंचायत में मौजूद राजनेताओं एवं दलित नेताओं ने सर्व सम्मति से ऐलान किया कि 9 अक्तूबर सोमवार को नगर निगम के तोडफ़ोड़ दस्ते के बुलडोजर के सामने सबसे पहले वह खड़े होंगे और गरीबों के घरों को तोडऩे के विरोध में आवाज बुलंद की जाएगी। महापंचायत को संबोधित करते हुए पूर्व विधायक चंद्र भाटिया, आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता धर्मबीर भड़ाना ने अपने-अपने संबोधनों में भाजपा सरकार पर जमकर बाण छोड़ते हुए नगर निगम प्रशासन के तोडफोड की इस कार्यवाही की कड़ी भत्र्सना की। उन्होंने संयुक्त रुप से कहा कि पिछले 60 वर्षाे से इन कालोनियों में लोग अपने घरों को बनाकर रह रहे है बकायदा राशनकार्ड, बिजली के मीटर, आधार कार्ड सहित सभी प्रकार के सरकारी कर जमा करवा रहे है, फिर इनकी कालोनियां को अवैध क्यों करार दिया गया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा गरीब को बसाने का काम किया है, जबकि भाजपा गरीबों को उजाडऩे का काम कर रही है। वही कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता विकास चौधरी ने भाजपाई पर व्यंगय करते हुए कहा कि अच्छे दिनों की बात करने वाली भाजपा सरकार में आज करवाचौथे जैसे बड़े एवं पवित्र त्यौहार के दिन हालात ऐसे पैदा हो गए है कि हजारों महिलाएं अपने पति की दीर्घायु की कामना करने की बजाए अपने आशियानों को बचाने के लिए मेहंदी लगे हाथों के साथ महापंचायत में बैठी है। इनके अलावा कांग्रेसी विधायक ललित नागर, पूर्वमंत्री पं. शिवचरण लाल शर्मा, पूर्व सीपीएस शारदा राठौर आदि ने अपने संबोधन में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनाव से पूर्व गरीब लोगों का घर बनाने का वायदा कर रहे थे, लेकिन अब सरकार बनने के बाद फरीदाबाद की इन उपरोक्त कालोनियों में रह रहे हजारों लोगों के घरों को तोडक़र उन्हें बेघर करने का काम किया जा रहा है, जिसे कांग्रेस पार्टी सहन नहीं करेगी।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar