National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

दाउद इब्राहिम और अनीस पर बीस वर्षों में पहली FIR दर्ज

मुंबई। ठाणे पुलिस ने मंगलवार रात इकबाल कासकर पर तीन करोड़ रुपये की रंगदारी का एक और मामला दर्ज किया। इस मामले में कासकर के दो भाइयों दाऊद इब्राहिम और अनीस इब्राहिम को भी आरोपी बनाया गया है। भारत से भागने के बाद दाऊद पर रंगदारी का यह पहला मामला दर्ज हुआ है। मुंबई के श्रृंखलाबद्ध विस्फोट मामले में दाऊद पहले से ही आरोपी है।

नए मामले में ठाणे पुलिस ने इकबाल को 10 अक्टूबर तक रिमांड पर ले लिया है। एक बिल्डर और एक आभूषण कारोबारी से जबरन वसूली के मामले में 18 सिंतबर को गिरफ्तार किए गए इकबाल कासकर पर मुंबई के ही एक और बिल्डर से जबरन वसूली का मामला दर्ज किया गया है।

बिल्डर से दो करोड़ रुपये की वसूली करने के लिए इकबाल ने अपने भगोड़े भाई अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के नाम का इस्तेमाल किया था। दूसरे भाई अनीस ने बिल्डर को फोन कर धमकाया था। इसलिए ठाणे पुलिस ने दाऊद और अनीस को भी आरोपी बनाया है। मामला करीब दो साल पुराना है।

दाऊद परिवार से डरा बिल्डर इकबाल कासकर की गिरफ्तारी के बाद पुलिस के पास जाने की हिम्मत जुटा सका है। ठाणे पुलिस अब इकबाल कासकर पर महाराष्ट्र संगठित अपराध निरोधक कानून के तहत मामला दर्ज करने के बारे में विचार कर रही है।

दाऊद इब्राहिम एवं अनीस इब्राहिम सहित इकबाल के खिलाफ दर्ज कराया गया जबरन वसूली का तीसरा मामला बोरीवली उपनगर के गोराई क्षेत्र में स्थित 38 एकड़ भूखंड से संबंधित है। भूखंड का बाजार भाव 35 करोड़ रुपये के करीब बताया जाता है।

इस भूखंड के मालिक टोनी लेविस ने करीब चार साल पहले बिल्डर से सौदा किया था। बिल्डर ने उसे दो करोड़ रुपये पेशगी दे दी थी। कुछ माह बाद भूखंड मालिक ने बिल्डर से दो गुनी राशि मांगनी शुरू कर दी। उसने कहा कि जमीन की कीमत बढ़ गई है।

बिल्डर इस विवाद को अदालत में ले गया तो इकबाल कासकर ने उसे अपने कार्यालय में बुलाया और भूखंड के एक और सौदे के कागजात दिखाए। उसने बिल्डर को सौदा भूल जाने की सलाह दी।

पुलिस सूत्रों के अनुसार, इसी बीच बिल्डर को अनीस इब्राहिम ने फोन कर एक करोड़ रुपये और देने और मुकदमा वापस लेने को कहा। इस धमकी के बाद बिल्डर ने इकबाल को एक करोड़ रुपये दिए थे।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar