National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

दिल्ली के संसद मार्ग पर जुटेंगे भोजपुरिया

भोजपुरी के संवैधानिक मान्यता और आठवीं अनुसूची में शामिल कराने के लिए “भोजपुरी जन जागरण अभियान” के बैनर तले राष्ट्र स्तर पर चलाया जा रहा भोजपुरी भाषा मान्यता आंदोलन के तहत आगामी 21 फरवरी 2018, दिन बुधवार को आठवाँ विशाल धरना प्रदर्शन का आयोजन अभियान के राष्ट्रीय अध्यक्ष संतोष पटेल के नेतृत्व में दिल्ली के संसद मार्ग पर किया जायेगा।
दिल्ली से एक प्रेस रिलीज के माध्यम से राष्ट्रीय अध्यक्ष संतोष पटेल ने जानकारी दी।
बताते चलें कि भोजपुरी भाषा मान्यता आंदोलन “भोजपुरी जन जागरण अभियान” देश भर मे भोजपुरी को संविधान में शामिल कराने हेतु संघर्ष कर रहा है तथा साहित्य एवं संस्कृति को सहेजने का काम कर रहा है। इससे पहले “भोजपुरी जन जागरण अभियान” के बैनर तले 6 अगस्त 2015, 10 दिसम्बर 2015, 21 फ़रवरी 2016 , 8 अगस्त 2016, 15 नवम्बर 2016 ,21 फ़रवरी 2017 तथा 9 अगस्त 2017 को धरना प्रदर्शन हो चुका है और ज्ञापन और माँग पत्र प्रधानमंत्री,गृहमंत्री और अन्य मंत्री,सांसद लोगों को दिया गया है।कुछ सांसद और मंत्री समर्थन में आगे भी आये है परन्तु सरकार अपनी मनसा अभी तक स्पष्ट नहीं कर पाई हैं।इसी को लेकर यह आठवाँ धरना प्रदर्शन अंतरराष्ट्रीय मातृ भाषा दिवस के दिन रखा गया है ।
भोजपुरी जन जागरण अभियान के राष्ट्रीय संयोजक सह झारखंड प्रभारी राजेश भोजपुरिया ने सभी भोजपुरी के संस्था, भोजपुरी प्रेमी, साहित्यकार,पत्रकार, समाजसेवी, गायक कलाकार, रंगकर्मी, राजनेता, भोजपुरी से जुड़े सभी लोगों से इस धरना प्रदर्शन में इस बार शामिल होने के लिए अपील किया हैं।
इस धरना में छत्तीसगढ़, उत्तरप्रदेश, चम्पारण, मध्यप्रदेश, बिहार, झारखंड, के अलावा मुम्बई, कोलकाता, असम और देश के कई भोजपुरी क्षेत्र से भोजपुरी भाषा भाषी व प्रतिनिधि शामिल होंगे। भोजपुरी भाषा के सम्मान और अपने हक के लिये भोजपुरी भाषा भाषियों का जुटान होगा।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar