न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

दिल्ली महिला आयोग का जीबी रोड़ के कोठो को बंद करने की मांग।

दिल्ली को चकलाघर नही बनने देंगे: स्वाति

नई दिल्ली। दिल्ली महिला आयोग ने दिल्ली के मुनिरका इलाके से 16 नेपाली लड़कियों को छुड़ाया है। आयोग को कल शाम 7 बजे सूचना मिली कि 16 लड़कियों को नेपाल से तस्करी करके दिल्ली लाया गया है और अब उनको गुपचुप तरीके से भारत से बाहर कुवैत और इराक़ ले जाने की तैयारी है। सूचना थी कि उनको दिल्ली के मुनिरका गाँव में एक फ्लैट में रखा गया है। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल आयोग के तीन कर्मियों के साथ तुरंत रात में 8 बजे तक मौके पर पहुँच गयीं। दिल्ली महिला आयोग ने दिल्ली पुलिस को भी मौके पर बुलाया और उनके साथ उस कमरे में छापा मारा जहाँ उन लड़कियों के होने की सूचना थी।
उस कमरे में आयोग को 16 लड़कियां मिलीं। जिस कमरे में उनको रखा गया था वह बहुत ही छोटा और गन्दा था| बात करने पर उन लड़कियों ने दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष को बताया कि वे नेपाल के सिन्धुपालचोक जिले से हैं| नेपाल में आये भूकंप के दौरान वह जिला सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ था।
संवाददाता को चुंगल से छुड़ाई गई लडकियों ने बताया कि उनको दलालों द्वारा नौकरी का लालच देकर दिल्ली लाया गया था| मगर दिल्ली आने के बाद सभी के पासपोर्ट तस्करों द्वारा छीन लिए गये। उनको पिछले 20-22 दिनों से इस कमरे में रखा हुआ था और इस दौरान कुछ और लड़कियां भी आयीं। उन्होंने बताया की उनके पिछले 15 दिन में 7 लड़कियों को ये लोग बाहर इराक़ और कुबैत भेज चुके हैं। बाहर जाने वाली इन लड़कियों में एक लड़की गर्भवती भी थी।
पुलिस ने इस मामले में वसंत विहार थाने में मुक़दमा दर्ज किया है और लड़कियों को शेल्टर होम भेज दिया गया है।
दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा, “जहाँ से हमने इन लड़कियों को छुड़ाया, वह जगह पुलिस स्टेशन से केवल 500 मीटर की दूरी पर है, मुझे समझ नहीं आता कि दिल्ली महिला आयोग को लड़कियों की तस्करी के बारे में पता चल जाता है मगर इतना पास होकर भी पुलिस को कैसे पता नहीं चलता। जब तक दिल्ली पुलिस की जवाबदेही तय नहीं होगी तब तक दिल्ली में ऐसे ही मानव तस्करी के मामले बढ़ते रहेंगे और दिल्ली रेप कैपिटल के नाम से बदनाम रहेगी। मैंने कई बार राजनाथ सिंह जी से प्रार्थना की है और अब भी कर रही हूँ कि दिल्ली में उच्च स्तरीय समिति का गठन करें जिसमें गृहमंत्री, उपराज्यपाल, मुख्यमंत्री, पुलिस आयुक्त और दिल्ली महिला आयोग शामिल हों और महीने में कम से एक दो बार इसकी मीटिंग की जाए| दिल्ली में मानव तस्करी का बहुत बड़ा रैकेट काम कर रहा है। इसमें शामिल सभी लोगों को पकड़ा जाए ताकि दिल्ली में इनके बड़े सरगना का पता लग सके। मानव तस्करी करने वालों को कड़ी से कड़ी सज़ा दी जाये जिससे दिल्ली में यह घिनौना काम बंद हो सके। ”उन्होंने दिल्ली के जीबी रोड पर संचालित सभी वेश्यावृत्ति के कोठों को भी बंद कराने की मांग की।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar