National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

 दिल्ली में प्रदूषण के खिलाफ इमरजेंसी प्लान, एनसीआर में सीपीसीबी की 41 टीमें तैनात 

नई दिल्ली । राजधानी दिल्ली में हवा के प्रदूषण से निपटने के लिए इमरजेंसी एक्शन प्लान लागू किया जा रहा है। सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड (सीपीसीबी) का कहना है कि हवा के प्रदूषण को रोकने के लिए इमरजेंसी प्लान लागू किया जाएगा। गौरतलब है कि हवा की गुणवत्ता बेहद खराब होने का संकेत मिलने के बीच कई कदम उठाए जाने की योजना है। आपात योजना यानी ग्रेडेड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान के तहत शहर में वायु गुणवत्ता के आधार पर सख्त कदम उठाए जाएंगे। एअर क्वालिटी खराब होने पर कचरा फेंकने वाले स्थानों पर कचरा जलाना रोक दिया जाएगा। ईंट, भट्ठी और उद्योगों में प्रदूषण नियंत्रण के सभी नियमनों को लागू किया जाएगा। हवा की गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ होने पर डीजल से चलने वाली जेनरेटर मशीनों का इस्तेमाल रोक दिया जाएगा। साथ ही ऐसी सड़कों की पहचान करके जहां ज्यादा धूल उड़ती है उन पर पानी का छिड़काव भी किया जाएगा। इसके अलावा अगर हवा की गुणवत्ता ‘बहुत बहुत खराब से आपात’ श्रेणी में होती है तो कुछ और अतिरिक्त कदम उठाए जाएंगे। दिल्ली में ट्रकों (आवाश्यक सामानों को ढोने वाले ट्रकों को छोड़कर) का प्रवेश रोका जाएगा। हवा की गुणवत्ता के आधार पर ही विभिन्न कदम उठाए जाएंगे। फिलहाल, हवा की गुणवत्ता खराब श्रेणी में है लेकिन अधिकारियों का अनुमान है कि अगले कुछ दिनों में यह बहुत खराब श्रेणी में जा सकती है। दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण रोकने के नियमों पर नजर रखने के लिए 41 टीमों को भी तैनात किया है। इमरजेंसी एक्शन प्लान के तहत दिल्ली-एनसीआर में हवा बेहद दूषित होने पर अन्य मौसम संबंधी चेतावनियों की तरह वायु प्रदूषण की आपात स्थिति की चेतावनी जारी की जाएगी।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar