National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

धान बाजरा कपास की खरीद में हुई धांधली को लेकर विधानसभा में सरकार को घेरेंगे करण दलाल

फरीदाबाद। हरियाणा के पूर्व कृषि मंत्री एवं पलवल के कांग्रेसी विधायक करण सिंह दलाल धान, कपास व बाजरे की खरीद में की जा रही धांधली को लेकर 23 अक्टूबर से शुरू हो रहे हरियाणा विधानसभा सत्र में मनोहर सरकार को घेरेंगे। आज सोमवार को पलवल आढ़त एसोसिएशन के पूर्व प्रधान संजय मंगला के अनाजमंडी स्थित कार्यालय में आयोजित पत्रकार सम्मेलन में दलाल ने चेतावनी दी कि सरकार ने किसानों व मजदूरों का शोषण जारी रखा तो इसके विरोध में बड़ा जन-आंदोलन छेड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि मौजूदा केन्द्र व प्रदेश की भाजपा की सरकारें जन विरोधी हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि मौजूदा दीपावली का पर्व सभी वर्गों के लिए कंगाल दीपावली के रूप में आया है। उन्होंने कहा कि सरकार धान व बाजरा तथा कपास की फसल को खरीद नहीं रही। किसान मजबूरी में अपनी फसलों को औने-पौने भाव में आढ़तियों को बेचने पर मजबूर है। उन्होंने आरोप लगाया कि कपास की फसल 90 प्रतिशत किसान औने पौने भाव में सस्ती दरों पर बेच चुका है। अब जबकि कपास की 10 प्रतिशत फसल रह गई है तो सरकार ने बड़ी चालाकी से रेट बढ़ा दिए हैं। जो ऊंट के मुंह में जीरे के समान है। दलाल ने आरोप लगाया कि गुजरात में चूंकि चुनाव हैं इसलिए वहां सरकार समर्थन मूल्य पर खरीद कर रही है जबकि हरियाणा में मिलीभगत करके किसानों को सस्ती दरों में अपनी धान की फसल को औने पौने दामों पर बेचने को मजबूर किया जा रहा है। गुजरात में चुनावी फायदे के लिए हरियाणा के किसानों के हितों की सरेआम बलि दी जा रही है। उन्होंने स्पष्ट आरोप लगाया कि पीएम नरेन्द्र मोदी झूठी वाहवाही लूटने में लगे हैं। अडानी व अंबानी के जरिए गुजरात के लिए खरीद की जा रही है। जिसमें यहां के किसानों का शोषण हो रहा है। दलाल ने आरोप लगाया कि पहले कांग्रेस की हुडडा सरकार के दौरान  धान की किस्म 1121 पांच हजार रूपए तक बिका था। हुडडा सरकार में परमल 1509 चार हजार तक बिका था, मगर अब बीजेपी के राज में किसानों की हालत काफी बुरी है। बाजरे का सरकारी समर्थन मूल्य 1485 रूपए है मगर बिक 1085 रूपए रहा है।यही हाल परमल धान का है। सरकारी समर्थन मूल्य 1590 रूपए है, मगर बिका 1350 रूपए है। उन्होंने कहा कि वह विधानसभा सत्र में किसानों की आवाज को मजबूती से उठाएंगे।  विधायक दलाल ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा पटाखों की बिक्री को बैन किए जाने के संदर्भ में कहा कि वह कोर्ट के फैसले पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे। लेकिन मौजूदा सरकार को पटाखा कारोबार में जुटे छोटे छोटे व्यापारियों के हितों की भी रक्षा करनी चाहिए। इस अवसर पर नगर परिषद पलवल के पूर्व चेयरमैन अनिल गोयल, पूर्व पार्षद बलराम गुप्ता, महेन्द्र इरफान, नारायण सैनी, कृष्णपाल ठाकुर, महेन्द्र रावत, राम अवतार कारना, आढ़त एसोसिएशन के पूर्व प्रधान संजय मंगला व राधाचरण देशवाल, ब्लॉक कांग्रेस शहरी के पूर्व अध्यक्ष दिनेश भारद्वाज, मनमोहन गोयल, सत्यदेव बंसल, कंवर कुलदीप सिंह, राकेश कुमार सिरसा वाले, दिनेश तायल आदि मुख्य रूप से मौजूद थे।   

पत्रकार सम्मेलन में विधायक दलाल ने भाजपा पर कसा तंज
Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar