National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

निगम मुख्यालय पर चल रहा कर्मियों का धरना 15 दिन के लिए हुआ स्थगित

करीब दो घण्टे प्रशासन से मीटिंग के बाद कर्मचारी नेताओं ने लिया निर्णय

फरीदाबाद। आउटसोर्सिंग पर लगे 688 कर्मचारियो को निगम रोल पर रखने व अन्य मांगों पर बनी सहमति के बाद पिछले 18 दिनों से निगम मुख्यालय पर चल रहा धरना आज 15 दिन के लिए स्थगित कर दिया गया है। यह ऐलान नगरपालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रधान नरेष कुमार शास्त्री ने कर्मचारियों की आज सुबह से ही अघोषित हड़ताल पर बैठे कर्मचारियों को संबोधित करते हुए किया। श्री शास्त्री ने बताया कि निगम प्रषासन व नगरपालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के बीच लगभग दो घंटे चली बैठक के बाद कर्मचारियों की मांगों पर सहमति बनने के उपरान्त आंदोलन को स्थगित करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि यदि निगम प्रषासन मांगी गई मांगों को 15 दिन के अन्दर लागू नहीं करता है तो निगम मुख्यालय पर आंदोलन शुरू कर दिया जाएगा। इस बैठक में निगम प्रषासन की ओर से अतिरक्त आयुक्त पार्थ गुप्ता, संयुक्त आयुक्त अमरजीत सिंह, मुख्य अभियन्ता डी.आर. भास्कर, अधीक्षक अभियन्ता व स्वास्थ्य अधिकारी रमेष बंसल, स्थापना अधिकारी विजय सिंह, अधीक्षक सुमन, लेखा शाखा के अधिकारी सतीष, विषाल सहित निगम के अन्य अधिकारी मौजूद थे जबकि नगरपालिका कर्मचारी संघ हरियाणा की ओर से नगरपालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रधान नरेष शास्त्री, जिला सचिव नानकचंद खैरालिया, सफाई कर्मचारी यूनियन के प्रधान बलवीर सिंह बालगुहेर, सचिव सोमपाल झिंझोटिया, श्रीनंद ढकोलिया, सीवरमैन यूनियन के प्रधान सुभाष फेंटमार, सचिव राजू मंढोटिया, वॉटर सप्लाई यूनियन के प्रधान रामकिषोर त्यागी, सचिव जयराज नागर, मैकेनिकल यूनियन के प्रधान महेष शर्मा, बेलदार यूनियन के प्रधान रोहताष रेढू ड्राइवर यूनियन के प्रधान परसराम अधाना व वेद भडाना, तृतीय व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी यूनियन के प्रधान रंजीत शुक्ला, योगेष शर्मा, सतीष पहलवान आदि उपस्थित थे। नगरपालिका कर्मचारी संघ हरियाण के राज्य प्रधान नरेष कुमार शास्त्री, जिला सचिव नानकचंद खैरालिया ने निगम प्रषासन को चेतावनी दी है कि यदि मानी गई मांगों को 15 दिन के अंदर-अंदर कार्यान्वित नहीं किया गया तो नगर निगम के सभी विभागों के कर्मचारी निगम मुख्यालय पर पुन: आंदोलन शुरू करेंगे। उन्होंने विनोद कुमार, बिल वितरक को गैर कानूनी और जबरन तरीके से नौकरी से निकाले जाने का विरोध करते हुए कहा कि निगम अधिकारी द्वारा कर्मचारियों को जबरन तरीके से हटाना अनुचित है, संघ इसका विरोध करेगा। उन्होंने कहा कि 15 दिन बाद निगम मुख्यालय पर होने वाला आंदोलन तीखा होगा।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar