National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

निर्भया गैंगरेप : दोषी को फांसी मिलेगी या नहीं, आज होगा तय

नई दिल्ली। दिल्ली दुष्कर्म कांड के दोषी मुकेश की फांसी की सजा के खिलाफ दाखिल पुनर्विचार याचिका पर सुप्रीम कोर्ट सोमवार को सुनवाई करेगा। मुकेश ने कोर्ट से गत पांच मई के फैसले पर पुनर्विचार करने की गुहार लगाई है जिसमें उसे फांसी की सजा सुनाई गई थी।

16 दिसंबर, 2012 की रात चलती बस में पैरामेडिकल की छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म हुआ था और बाद में इलाज के दौरान छात्रा की मौत हो गई थी। दिल्ली सामूहिक दुष्कर्म कांड के इस मामले में निचली अदालत से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक से दोषियों को फांसी की सजा सुनाई गई है। गत पांच मई को सुप्रीम कोर्ट ने मुकेश, पवन गुप्ता, अक्षय ठाकुर और विनय शर्मा को मौत की सजा देने के हाई कोर्ट के आदेश पर अपनी मुहर लगाई थी।

चार में से एक दोषी मुकेश ने वकील एमएल शर्मा के जरिये सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल कर फांसी की सजा रद किए जाने की मांग की है। अभियोजन पक्ष के मुताबिक मुकेश घटना की रात बस को चला रहा था, जिसमें छात्रा के साथ हैवानियत हुई थी। उसने भी छात्रा से दुष्कर्म किया था। लेकिन पुनर्विचार याचिका में मुकेश ने कहा है कि वह घटना की रात बस में नहीं था। उसे झूठा फंसाया गया है। उसे करौली से गिरफ्तार किया गया था और पुलिस ने प्रताड़ित करके उसका अपराध स्वीकृति का बयान दर्ज किया।

मुकेश का कहना है कि उसे ड्राइविंग नहीं आती। पुलिस ने उसके जिस ड्राइविंग लाइसेंस को केस में पेश किया है वह मोटर साइकिल चलाने का है बस चलाने का नहीं है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar