National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली टी-ट्वंटी सीरीज़ जीतने उतरेगा भारत

राजकोट। भारतीय क्रिकेट टीम ने कोटला मैदान पर न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली बार ट्वंटी 20 अंतरराष्ट्रीय मैच जीतने का सूखा समाप्त किया था और अब शनिवार को वह यहां दूसरे मैच में जीत सुनिश्चित कर इस टीम के खिलाफ अपनी पहली ट्वंटी 20 सीरीज़ जीत के लिये उतरेगी।
विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम इंडिया ने दिल्ली के कोटला मैदान पर पहला ट्वंटी 20 मैच 53 रन से जीतकर तीन मैचों की सीरीज़ में 1-0 से बढ़त बनाई थी। यदि भारत राजकोट मैच जीत लेता है तो यह उसकी न सिर्फ न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली ट्वंटी 20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज़ जीत होगी बल्कि पांच वर्षाें में यह उसकी फटाफट प्रारूप में भी तीसरी सीरीज़ जीत होगी।
हालांकि न्यूजीलैंड विश्व रैंकिंग में भारत से काफी आगे है और वह दूसरा मैच जीतकर बराबरी करने का पूरा प्रयास करेगा। कीवी टीम ने तीन मैचों की वनडे सीरीज़ में भी भारत को सबसे अधिक चुनौती दी थी और उम्मीद की जा सकती है कि सौराष्ट्र क्रिकेट संघ मैदान में दोनों टीमों के बीच कांटे की टक्कर होगी।
वैसे अपने घरेलू मैदान पर कमाल का रिकार्ड रखने वाली भारतीय टीम के पास बेहतरीन बल्लेबाजी और गेंदबाजी क्रम है और उसके लिये फिलहाल यह काम मुश्किल नहीं लग रहा है। कोटला मैच में ओपनर रोहित शर्मा और शिखर धवन की जोड़ी ने अकेले ही पहले विकेट के लिये 158 रन की बेहतरीन शतकीय साझेदारी करते हुये मजबूत शुरूअात दिलाई थी। कप्तान विराट ने भी स्कोर में नाबाद 26 रन का योगदान दिया था जिससे बाकी बल्लेबाजों को मेहनत ही नहीं करनी पड़ी। विराट भी अच्छी फार्म में हैं और मध्यक्रम उनसे मजबूत है तो उनके अलावा ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या, महेंद्र सिंह धोनी, श्रेयस अय्यर के रूप में अच्छे खिलाड़ी मौजूद हैं। मुंबई के श्रेयस को इस मैच में मौका दिया गया था लेकिन उन्हें अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका नहीं मिला था।
बल्लेबाजों के साथ भारत के पास पांड्या, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह के रूप में कमाल के तेज़ गेंदबाज़ हैं वहीं मोहम्मद सिराज को भी ट्वंटी 20 टीम में जगह मिली है लेकिन देखना होगा कि इस अहम मैच में उन्हें मौका मिलता है या नहीं। इसके अलावा युजवेंद्र चहल, चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव पर स्पिन गेंदबाजी की जिम्मेदारी रहेगी। भुवनेश्वर और बुमराह समय डैथ ओवरों के विशेषज्ञ बन चुके हैं तो मध्य ओवरों में स्पिनर मददगार साबित हो रहे हैं।
दूसरी ओर न्यूजीलैंड के पास अच्छा बल्लेबाजी और गेंदबाजी क्रम है और पिछले मैचों में उसने भारत को आखिरी समय तक लड़ने के लिये मजबूर किया है इसलिये विपक्षी टीम को कम नहीं आंका जा सकता है। बल्लेबाजों में कप्तान केन विलियम्सन, टॉम लाथम, मार्टिन गुप्तिल अहम हैं तो गेंदबाजों मं ट्रेंट बोल्ट और टिम साउदी कीवी टीम के सबसे महत्वपूर्ण तेज़ गेंदबाज़ हैं।
न्यूजीलैंड की टीम निश्चित ही भारत को पांच वर्षाें में तीसरी ट्वंटी 20 सीरीज़ जीतने से रोक सकता है। भारत ने वर्ष 2012-13 से अब तक आठ ट्वंटी 20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज़ में केवल दो में ही जीत दर्ज की है जबकि तीन ड्रा समाप्त हुई हैं।

Print Friendly, PDF & Email
Tags:
Skip to toolbar