न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

पथरी के इलाज का बिल 36 लाख रुपये, फोर्टिस पर आरोप

गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पताल का एक और कारनामा सामने आया है. अस्पताल प्रबंधन ने पथरी का इलाज करवाने आए एक किसान को जमकर लूटा और उसको 42 दिनों का 36 लाख रुपये का बिल थमा दिया. लेकिन इलाज करवाने के बावजूद किसान आज चलने फिरने में लाचार है.

दौलताबाद के भीम सिंह फोर्टिस अस्पताल में 14 एमएम की पथरी का इलाज करवाने आए थे. उन्हें अप्रैल 2016 में फोर्टिस अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. उन्होंने इलाज का पूरा पैसा भी जमा करवा दिया लेकिन आज वो चलने फिरने में लाचार है. इंसाफ के लिए आज उनके परिजन भटक रहे हैं.

पीड़ित के परिजनों ने बताया कि वो पहले पार्क अस्पताल में दाखिल हुए थे लेकिन वहां पर इलाज न होने के बाद उन्हें फोर्टिस अस्पताल में दाखिल करवाया गया था. 30 अप्रैल को उन्हें फोर्टिस अस्पताल ले जाया गया. इस दौरान पेट में गैस की समस्या होने से उनकी बड़ी आंत भी फट गई. इस वजह से उनकी किडनी भी खराब हो गई.

पीड़ित को अस्पताल द्वारा सौंपा गया बिल

इस प्रक्रिया में उनका पूरा खर्चा 36 लाख 68 हजार रुपये आया. बेटा फौज में है इसलिए सरकारी खर्चें पर इलाज कराने के लिए पार्क अस्पताल पैनल में था, लेकिन फोर्टिस पैनल में नहीं था. ऐसे में बेटे को अपने खर्चे से ही इलाज करवाना पड़ा. डॉक्टर्स की लापरवाही से भीमसिंह के दोनों ही पैरों में पैरालिसिस हो गया है. वहीं पीड़ित किसान के गांव में पहने वाले लोगों ने सीएमओ को फोर्टिस अस्पताल के खिलाफ शिकायत दी हैं. डेंगू से सात साल की बच्ची की मौत के मामले के बाद फोर्टिस पीड़ित शिकायतकर्ता अब सामने आने लगे हैं.

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar