National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

पद्मश्री से सम्मानित अभिनेता टॉम आल्‍टर 67 साल की उम्र में निधन, कैंसर से थे पीड़ित

जाने-माने एक्टर टॉम ऑल्टर का निधन हो गया है, वे कैंसर से जूझ रहे थे. हाल ही में उनके परिवार ने इसकी जानकारी दी थी. टॉम को एक प्रकार का स्किन कैंसर था. बताया जा रहा है कि ऑल्टर कैंसर की चौथी स्टेज में थे. मुंबई के सैफी अस्पताल में इनका इलाज चल रहा था. 67 साल की उम्र में निधन हो गया है. टॉम ऑल्टर ने सिर्फ टीवी और फिल्मों में ही नहीं, थियेटर में भी लंबे समय तक काम किया है.

क्टिंग में मिला था गोल्ड मेडल
टॉम ने 1974 में फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ पुणे से एक्टिंग में ग्रेजुएशन के दौरान गोल्ड मेडल हासिल किया था. 67 साल के टॉम ने टीवी शोज के अलावा 300 के करीब फिल्मों में भी काम किया है. उन्हें खासतौर पर मशहूर टीवी शो जुनून में उनके किरदार केशव कल्सी के लिए जाना जाता है. 1990 के दशक में यह टीवी शो लगातार पांच साल तक चला था.

स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट भी रहे
उनकी एक्टिंग के फैंस ये बात शायद ही जानते हों कि 1980 से 1990 के दौरान टॉम एक स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट भी रहे हैं. इतना ही नहीं उनके नाम एक और उपलब्धि है. वह टीवी पर सचिन तेंदुलकर का इंटरव्यू लेने वाले वह पहले व्यक्ति थे.

धर्मेंद्र के साथ बॉलीवुड डेब्यू
ऑल्टर ने तीन किताबें भी लिखी हैं 2008 में उन्हें कला और सिनेमा के क्षेत्र में योगदान के लिए पद्म श्री अवॉर्ड भी दिया गया था. बता दें इंडियन-अमेरिकन एक्टर टॉम ऑल्टर का जन्म मसूरी में हुआ था और उनकी परवरिश भी वहीं हुई. उन्होंने 1976 की धर्मेंद्र की फ़िल्म ‘चरस’ से बॉलीवुड में डेब्यू किया था.
1977 में ऑल्टर ने नसीरुद्दीन शाह के साथ मिलकर मोल्टे प्रोडक्शन के नाम से एक थियेटर ग्रुप बनाया था. वह थियेटर में लगातार सक्रिय रहे हैं. उनकी खास फिल्मों की बात करें, तो इनमें परिंदा, शतरंज के खिलाड़ी और क्रांति जैसी फिल्में शामिल हैं. वह आखिरी बार सरगोशियां फिल्म में नजर आए थे. यह फिल्म इसी साल रिलीज हुई थी.

पद्मश्री से सम्मानित
पद्मश्री से सम्मानित अभिनेता टॉम आल्‍टर के परिवार में उनकी पत्नी कैरल, बेटा जेमी और बेटी अफशां हैं। टॉम आल्‍टर को कैंसर होने की जानकारी पिछले दिनों उनके बेटे जैमी ने दी थी। वह थिएटर से लेकर फिल्‍मों तक में अपनी बेहतरीन अदाकारी का जलवा दिखा चुके हैं।
वह उन गिने-चुने विदेशी अभिनेताओं में से एक थे, जिनकी अंग्रेजी के साथ-साथ हिंदी और उर्दू पर भी बेहतरीन पकड़ थी। हिंदी बोलते समय उनका लहजा इतना साफ होता था कि अगर आंखें बंद करके उनकी बात कोई सुने तो कह ही नहीं सकता कि ये कोई विदेशी अभिनेता की आवाज है।

300 से ज्यादा फिल्मों में काम
आल्टर ने 300 से ज्यादा फिल्‍मों में काम किया। इसके अलावा उन्होंने कई टीवी शो में भी काम किया था, जिनमें काफी प्रसिद्ध शो गैंगस्टर केशव कालसी अहम है। बहुमुखी प्रतिभा के धनी टॉम आल्‍टर 80 और 90 के दशक में खेल पत्रकार भी रहे। उनके परिवार की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है, ‘दुख के साथ हम अभिनेता, लेखक, निदेशक, पद्मश्री टॉम आल्टर के निधन की घोषणा करते हैं। टॉम शुक्रवार रात में अपने परिवार के सदस्यों की मौजूदगी में दुनिया से विदा हो गए। हमारा आग्रह है कि इस समय हमारी निजता का सम्मान किया जाए।’ टॉम आल्‍टर का जन्‍म 1950 में मसूरी में हुआ था। उन्होंने वूडस्टॉक स्कूल में शुरुआती पढ़ाई की, जिसके बाद थोड़े दिनों के लिए येल यूनिवर्सिटी गए और 70 के शुरुआती दशक में भारत लौट आए। फिर पुणे स्थित देश के प्रतिष्ठित फिल्म ऐंड टेलिविजिन इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया में दाखिला लिया और अभिनय के क्षेत्र में कदम रखा।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar