न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

पर्यावरण को ध्यान में रखकर कार्य करें क्रेशर जोन संचालक : विपुल गोयल

मनोज तोमर/विजय न्यूज ब्यूरो

फरीदाबाद। प्रदेश के कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल ने कहा है कि क्रेशर जोन संचालक पर्यावरण का ध्यान रखते हुए ही खनन का कार्य करें और वो 17 दिसंबर को खुद क्रेशर जोन का दोरा कर जांच करेंगे। उन्होंने कहा कि एनजीटी को सख्त रवैया ना अपनाना पड़े इसके लिए क्रेशर मालिकों को अपनी कमाई का कुछ हिस्सा प्रदूषण नियंत्रण पर भी खर्च करना चाहिए। श्री गोयल आज पाली-मोहब्बताबाद क्रेशर एसो. के पदाधिकारियों द्वारा आयोजित स्वागत समारोह में उपस्थितजनों को संबोधित करेंगे। इस मौके पर पाली-मोहब्बताबाद क्रेशर एसोसिएशन के प्रधान धर्मबीर भड़ाना व पदाधिकारियों ने कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल का 4 दिसंबर 2017 से क्रेशर जोन दोबारा खुलवाने में मदद करने पर उनके निवास पर पौधा भेंट कर आभार व्यक्त किया। गौरतलब है कि एनजीटी के आदेश पर 8 नवंबर 2017 को दिल्ली एनसीआर में सभी क्रैशर जोन पर बैन लगा दिया गया था लेकिन प्रदूषण नियंत्रण होने के बाद पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण अथॉरिटी के चेयरमैन भूरेलाल ने 4 दिसंबर से क्रेशर जोन फिर से खोलने की अनुमति दे दी है।

क्रेशर जोन पदाधिकारियों ने किया कैबिनेट मंत्री का पौधा भेंट कर स्वागत

इस घोषणा से हरियाणा के फरीदाबाद और गुडगांव समेत 12 जिलों के 705 क्रेशर को राहत मिली है। इस मौके पर कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल ने क्रेशर मालिकों को बधाई देते हुए ये हिदायत भी दी कि क्रेशर मालिक प्रदूषण नियंत्रण का ध्यान रखेंगे तो वो क्रेशर जोन में विकास मे कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। उन्होने कहा कि उद्योग और पर्यावरण मंत्री होने के नाते क्रेशर मालिक और पर्यावरण दोनों का ध्यान रखना उनकी जिम्मेदारी है।  इस मौके पर क्रेशर एसोसिएशन के प्रधान धर्मबीर भड़ाना ने उद्योग मंत्री विपुल गोयल का आभार व्यक्त करते हुए सभी क्रेशर मालिकों की तरफ से पर्यावरण मंत्रालय की सभी गाइडलाइंस का पालन करने का आश्वासन दिया। इस मौके पर पाली और मोहब्बताबाद क्रेशर एसोसिएशन के सचिव हरीश मित्तल समेत कई क्रेशर मालिक मौजूद रहे।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar