न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

पौधे लगाने पर किसानों को मिलेगा अनुदान

झुंझुनू। कृषि विभाग कृषि वानिकी सब मिशन के तहत किसानों को पौधरोपण के लिए अनुदान देगी। किसानों को पौधे खरीद की आधी राशि का अनुदान दिया जाएगा। इस योजना का लाभ किसान खेत की सीमा (मेड़) पर पौधरोपण करने पर ही ले सकेंगे। योजना का मुख्य उद्देश्य यह है कि किसान पशुपालन व खेती के साथ ही पौधरोपण कर अपनी आय बढ़ा सके। इस योजना से खेती व किसान को कई लाभ होंगे। पौधे लगने से कार्बन उत्सर्जन कम होगा, मिट्टी में जैविक तत्व बढ़ेंगे। ग्रामीण परिवारों में खास कर छोटे किसानों के जीवन स्तर में सुधार होगा। अनुदान लेने के लिए किसान को कम से कम 50 पौधे लगाने होंगे। अधिकतम कितने भी पौधे लगाए जा सकते हैं। पौधरोपण के लिए एक पौधे की लागत 70 रुपए मानी गई है। इन 70 रुपयों में किसान को भूमि की सफाई, गड्ढे खोदना, पौधे लगाना, पौधे की लागत, परिवहन व्यय, गोबर की खाद, उर्वरक, रसायन, पौधरोपण की लागत, तारबंदी व रखरखाव करना होगा। अनुदान राशि के 35 रुपए चार वर्ष में मिलेंगे। पहले साल 14 रुपए व बाद में तीन साल तक सात-सात रुपए मिलेंगे।
कृषि विभाग के सहायक निदेशक (कृषि विस्तार) डॉ. विजयपाल कस्वा ने बताया कि कृषि वानिकी सब मिशन के तहत किसानों को फलदार, छायादार, इमारती, जलाऊ, चारा देने व अन्य पौधे लगाने पर 50 प्रतिशत तक अनुदान देय है। यह किसानों के लिए बहुत ही उपयोगी मशीन है। किसानों को अनुदान प्राप्त करने के लिए ई-मित्र के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन करना होगा। आवेदन के साथ लाभार्थी का फोटो, जमाबंदी, मिट्टी व पानी की जांच रिपोर्ट, भामाशाह/आधार कार्ड व बैंक पास बुक की फोटो प्रति अपलोड करनी होगी। कम घनत्व में प्रति हैक्टेयर सौ पौधे लगाने पर 70 रुपए प्रति पौधा लागत आएगी। प्रति हैक्टेयर में 100 से 500 पौधे लगाने पर 28 हजार तक की लागत आएगी। उच्च घनत्व में पांच सौ से एक हजार पौधे लगाने पर 30 हजार, 1000 से 1200 पौधे लगाने पर 35 हजार, 1200 से 1500 पौधे लगाने पर 45 हजार व 1500 से अधिक पौधे लगाने पर 50 हजार लागत आएगी। कस्वा ने बताया कि अनार, आंवला, नींबू, बेर, करोंदा, शहतूत, लेसूआ, बेल पत्र, अमरूद, जामुन, आम, बड़, पीपल, नीम, सैंजना, सिरस, करंज, महुआ, शीशम, बबूल, रोहिड़ा, सांगवान,बांस, देशी बबूल, खेजड़ी, जंगल जलेबी, खेजड़ी, अरडू, नीम, पीपल,सैंजना, चंदन, अमलतास, कचनार, गुलमोहर व अशोक के पौधे लगाने पर अनुदान मिलेगा।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar