National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

प्रद्युम्न मर्डरः परीक्षा और पीटीएम टालने के लिए 11वीं के छात्र ने की मासूम की हत्या

गुरुग्राम। दिल्ली से सटे हरियाणा के गुरुग्राम में रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुए प्रद्युम्न हत्याकांड में सीबीआई ने बड़ी कार्रवाई करते हुए इसी स्कूल में पढ़ने वाले 11वीं के एक छात्र को गिरफ्तार किया है। सीबीआई ने बताया है कि प्रद्युम्न की हत्या स्कूल के ही एक छात्र ने की है। सीबीआई ने छात्र को मंगलवार की रात को ही गिरफ्तार कर लिया था। सवाल यह उठ रहा था कि जांच एजेंसी किन तथ्योें के आधार पर 11वीं के छात्र के हिरासत में लिया है। सीबीआई के अधिकरियों ने ऑफ कैमरा इस बाबत हर सवाल का जवाब दिया है।
सीबीआई के मुताबिक, आरोपी छात्र ने स्कूल की परीक्षा और पेरेंट्स-टीचर मीटिंग टालने के लिए प्रद्युम्न की हत्या की थी। आरोपी छात्र 11वीं क्लास में पढ़ता है।

सीबीआई का बयान –

  • पैरेंट्स टीचर मीटिंग (PTM) टालने की वजह से 11 वीं क्लास के छात्र ने प्रद्दुम्न की हत्या की थी।
  • स्कूल में होने वाली परीक्षा व PTM टालने की के लिए हत्या का इरादा किया और फिर मौका मिलने पर छात्र ने उसे अंजाम दिया
  • आरोपी छात्र को हिरासत में लेने से पहले सीबीआई अधिकारियों ने उससे 4-5 बार पूछताछ की थी।
  • आरोपी छात्र 16 साल का है।
  • सीबीआई के मुताबिक पहले दिन से ही उसे शक हुआ जब इस छात्र के बयान में बहुत विरोधाभास दिखा। इसने ही प्रद्युम्न को सबसे पहले देखा था और सूचना दी थी।
  • जांच के दौरान सीबीआई ने हरियाणा पुलिस की थ्योरी को बदल दिया, जिसमें पुलिस ने कंडक्टर अशोक को हत्यारोपी बनाया था
  • सीबीआई ने कहा कि छात्र की हत्या के मामले में कंडक्टर का कोई रोल नहीं है।
  • सीसीटीवी फुटेज के आधार पर CBI ने आरोपी छात्र को लिया हिरासत में।
  • सीबीआई सूत्रों ने कहा कि छात्र मानसिक रूप से कमजोर है और उसका इलाज भी चल रहा था।

सीबीआई की मानें तो आरोपी छात्र सोहना का रहने वाला है। जांच एजेंसी ने मंगवार रात छात्र को सोहना के डिफेंस कॉलोनी से गिरफ्तार किया था। इसके बाद गए छात्र को किंग्सवे कैंप के सेवा धाम में रखा गया है।
वहीं, सीबीआई ने पकड़े गए आरोपी अशोक को क्लीन चिट नहीं दी है। वह अभी भी जांच में शामिल है। उसे गुड़गांव की अदालत में पेश किया जाएगा। वहीं सीबीआई ने प्रद्युम्न के साथ यौन उत्पीड़न की बातों को नकार दिया और कहा कि प्रद्युम्न के साथ कोई सेक्सुअल नहीं हुआ था। यहां पर बता दें कि 8 सितंबर को स्कूल के बाथरूम में कक्षा 2 के छात्र की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। अभिवभावकों के विरोध और माता-पिता की मांग पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जांच सीबीआई को सौपीं थी। गुरुग्राम पुलिस ने मासूम की हत्या में स्कूल के बस कंडक्टर अशोक को गिरफ्तार किया था। वहीं, आरोपी 11वीं के छात्र के पिता ने सीबीआई की कार्रवाई पर सवाल उठा दिया है। उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि उनके बेटे को फंसाया जा रहा है। हालांकि, उन्होंने कबूल किया है कि उनके बेटे से सीबीआई टीम के अधिकारियों ने पूछताछ की थी। बताया जा रहा है कि आरोपी छात्र से गुरुग्राम पुलिस भी जांच के दौरान सीआरपीसी की धारा 164 के तहत उसका बयान दर्ज करा चुकी है। आरोपी छात्र के पिता ने यह भी बताया कि उनका बेटा प्रद्युम्न को जानता ही नहीं था। पिता का यह भी कहना है कि सबसे पहले उनके बेटे ने ही माली को प्रद्यु्म्न के साथ हुए हादसे की बात बताई थी। बता दें कि हरियाणा सरकार ने इस मामले में सीबीआई जांच की सिफारिश की थी और जांच एजेंसी ने 22 सितंबर को इस मामले को अपने हाथों में लिया था। ऐसा इसलिए करना पड़ा, क्योंकि प्रद्यु्म्न के परिजन हरियाणा पुलिस के खुलासे से संतुष्ट नहीं थे।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar