National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने तेजस्वी यादव से घंटों पूछताछ की

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने सोमवार को राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद के बेटे तेजस्वी यादव से सात घंटों तक लगातार पूछताछ की. इस दौरान उनसे 100 से अधिक प्रश्न पूछे गए.
तेजस्वी से 2006 में आईआरसीटीसी होटल के रखरखाव अनुबंध मामले की जांच के संबंध में पूछताछ की गई. ईडी के एक अधिकारी के मुताबिक, ‘बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री से लगभग दिनभर चली पूछताछ में 100 से ज्यादा प्रश्न पूछे गए. यह दिल्ली स्थित ईडी के कार्यालय में सुबह 11 बजे से शुरू हुई, जहां उनका बयान भी दर्ज किया गया.’

यह दूसरी दफा है, जब इस मामले में ईडी ने तेजस्वी से पूछताछ की है. इससे पहले ईडी तेजस्वी से 10 अक्टूबर को नौ घंटे से अधिक समय तक पूछताछ कर चुकी है. तेजस्वी चार सम्मन को दरकिनार कर सोमवार को ईडी के समक्ष पेश हुए.
ईडी तेजस्वी, उनके पिता व राजद के नेता लालू प्रसाद और उनके अन्य परिवार के सदस्यों के खिलाफ धन शोधन रोकथाम (पीएमएलए) मामले में वित्तीय अनियमितताओं की जांच कर रहा है. राबड़ी देवी के खिलाफ ईडी ने छह सम्मन जारी किए हैं और इस मामले में अब उनसे पूछताछ की जाएगी.
प्रवर्तन निदेशालय ने 27 जुलाई को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की एफआईआर पर पीएमएलए के तहत एक मामला दर्ज किया था, जिसमें फर्जी कंपनियों द्वारा कथित तौर पर हस्तांतरित धन की जांच की जा रही है.
सीबीआई ने पांच जुलाई को लालू, उनकी पत्नी और तेजस्वी के खिलाफ भ्रष्टाचारा का एक मामला दर्ज किया था. सीबीआई ने तीनों पर 2006 में रांची और पुरी में भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) के दो अनुबंधों को आवंटित करने में कथित वित्तीय अनियमितता पाई थी. उस वक्त लालू रेल मंत्री थे.
सीबीआई ने कहा कि ठेका विजय और विनय कोचर के स्वामित्व वाली कंपनी सुजाता होटल को दिया गया था. जिन्होंने बदले में कथित तौर पर बिहार में एक प्रमुख भूखंड को रिश्वत के तौर पर दी थी.
अहलूवालिया कॉन्ट्रैक्टर्स के प्रमोटर बिक्रमजीत सिंह अहलूवालिया के अलावा पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता और आईआरसीटीसी के प्रबंध निदेशक पी.के. गोयल भी इस मामले में आरोपी हैं. सीबीआई ने इस मामले में तेजस्वी और लालू प्रसाद के बयान दर्ज कर लिए है.

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar