National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

प‎ति ने पत्नी को मुआवजा देने के बजाय जेल जाना ‎किया मंजूर

– तलाक के बाद कोर्ट ने सुनाया था पत्नी को हर महीने 3500 रुपए देने का आदेश, युवक ने राजी-खुशी दी थाने में गिरफ्तारी
वडोदरा। दोस्तों के साथ युवक जब थाने में अपनी गिरफ्तारी देने पहुंचा तो यह देखकर सब हैरान हो गए। युवक ने माता-पिता के पैर छूकर थाने में गिरफ्तारी दी तो पुलिस वाले भी अपनी हंसी रोक नहीं पाए। गिरफ्तारी की इस कहानी में सब राजी दिख रहे। ना ही पुलिस का खौफ और ना ही जेल जाने का डर। जी हां कुछ ऐसा नजारा वडोदरा पुलिस स्‍टेशन में देखने को मिला। पति-पत्‍नी की आपसी लड़ाई की यह कहानी कुछ खास है। पति-पत्‍नी के बीच मनमुटाव हुआ फिर मामला तलाक तक पहुंचा। कोर्ट ने मुआवजा देने का आदेश सुनाया मगर पति ने तय रकम न देने की कसम खा ली और बदले में वह जेल जाने के लिए तैयार हो गया। मामला है गुजरात के वडोदरा का।
हेमंत राजपूत (36) जिसने पत्‍नी से तलाक के लिए कोर्ट में मुकदमा दायर किया। कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए हेमंत को 3500 रुपये हर महीने मुआवजे के तौर पर देना तय किया। हर महीने पैसे नहीं देने पर यह राशि बढ़कर करीब 95,000 रुपये हो गई। पत्‍नी फिर कोर्ट पहुंच गई और कोर्ट ने हेमंत को गुजारा भत्ता देने का फरमान सुनाया और न देने पर जेल जाने के लिए तैयार रहने को कहा। इधर पत्‍नी से जलालत झेलने के बाद हेमंत ने उसे पैसे ना देने का फैसला ले रखा था। भले उसे जेल ही क्‍यों ना जाना पड़े। मामला पुलिस के पास पहुंचा और पुलिस उसे गिरफ्तार करने उसके घर गई। उस वक्‍त वह घर पर नहीं था।
पुलिसकर्मी घरवालों को उसे थाने पर भेजने की बात कह कर लौट गए। यह बात जब हेमंत को पता चली तो वह अपनी गिरफ्तारी देने दोस्‍तों के साथ झूमते गाते थाने पहुंचा। पुलिस इंस्‍टेपक्‍टर एफके जोगपाल ने बताया कि करीब 15 साल तक दांपत्‍य जीवन बिताने के बाद आपसी कलह के कारण तलाक लिया है। कोर्ट का आदेश ना मानने पर उसे 270 दिनों की जेल हुई है। पत्‍नी अक्सर हेमंत पर माता-पिता से अलग रहने के लिए दवाब बना रही थी। मामला बिगड़ गया और तलाक लेने की नौबत आ गई। कोर्ट ने उसे हर्जाना राशि देने की बात की नहीं तो 270 दिन की जेल का आदेश सुनाया। इसक बाद हेमंत अपनी गिरफ्तारी देने पहुंच गया।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar