National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

फेड के फैसले से शेयर बाजार लुढ़का

मुंबई।  ब्याज दर में बढ़ोतरी करने के अमेरिकी फेडरल रिजर्व के बयान से एशियाई बाजारों में मची खलबली तथा घरेलू स्तर पर बड़ी और मंझोली कंपनियों में हुई बिकवाली के दबाव में बीएसई का सेंसेक्स 0.31 प्रतिशत यानी 83.77 अंक लुढ़ककर 26,518.01 अंक पर तथा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 0.35 फीसदी अर्थात 28.85 अंक फिसलकर 8,153.60 अंक पर बंद हुआ । अमेरिकी बांड के ब्याज दरों में बढोतरी और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रमुख अन्य मुद्राओं की तुलना में डॉलर के 14 साल के उच्चतम स्तर पर होने से एशियाई बाजारों में खलबली मच गयी है। ब्याज दर में 25 आधार अंक की बढोतरी के फेड के बयान के कारण सेंसेक्स 105.13 अंक की गिरावट के साथ 26,497.71 अंक पर खुला और शुरुआती कारोबार सुबह ही में छोटी कंपनियों में हुई लिवाली के दम पर 26,737.86 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया। बाद में हेल्थकेयर कंपनियों में हुई मुनाफावसूली और डॉलर के 14 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंचने से यह लुढ़ककर 26,407.58 अंक के दिवस के निचले स्तर तक आ गया। कारोबार की समाप्ति पर इसमें हल्का सुधार हुआ और यह गत दिवस के मुकाबले 83.77 अंक की गिरावट के साथ 26,518.07 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी में सेंसेक्स जैसी ही स्थिति देखी गयी। यह भी 54.05 अंक की गिरावट के साथ 8,128.40 अंक पर खुला और एक समय 8200 अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर को पार करता हुआ 8,225.90 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर तक पहुंचा। इसमें भी लेकिन बाद में गिरावट आयी और यह 8,121.95 अंक के दिवस के निचले स्तर तक गोता लगाता हुआ कारोबार समाप्ति पर गत दिवस के मुकाबले 28.85 अंक की गिरावट के साथ 8,153.60 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी के 51 में से 32 कंपनियों के शेयर टूटे और एक में कोई बदलाव नहीं हुआ। बड़ी तथा मंझोली कंपनियों में आज बिकवाली का जोर रहा जबकि छोटी कंपनियों में लिवाली हुई। बीएसई का मिडकैप 0.30 अंक यानी 0.00 प्रतिशत की गिरावट के साथ 12,240.89 अंक पर तथा स्मॉलकैप 0.21 प्रतिशत यानी 25.03 अंक चढ़कर 12,143.41 अंक पर रहा। बीएसई में कुल 2,778 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,290 के शेयर टूटे तथा 1,315 के शेयरों में तेजी रही जबकि 173 कंपनियों के शेयरों के भाव अपरिवर्तित रहे।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar