National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

बांग्लादेश ने रचा इतिहास, 17 साल में पहली बार किया कंगारुओं को पस्त

ढाका। बांग्लादेश क्रिकेट पिछले कुछ सालों में तेजी से बेहतर हुआ है और शायद इसी का नतीजा है कि इस बार उन्होंने एक नया कारनामा कर दिया है। दरअसल बांग्लादेशी टीम ने ढाका में चल रहे पहले टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया को 20 रन से हरा दिया है। कंगारुओं के सामने बाग्ला टाइगरों की यह पहली टेस्ट जीत है। इस टेस्ट मैच की नतीजा मैच के चौथे दिन ही निकल आया और बांग्लादेश ने लंच से पहले ही इसे जीत लिया। टीम के लिए यादगार इस मैच की आखिरी पारी में शाकिब अल हसन ने पांच और तैजुल इस्लाम ने तीन विकेट अपने नाम किए।

वॉर्नर के विकेट ने बदल दिया मैच

चौथे दिन की सुबह जब मैच शुरू हुआ तो जीत ऑस्ट्रलियाई टीम की झोली में साफ नजर आ रही थी। खेल शुरू होने के बाद वॉर्नर ने अपना शतक पूरा किया और फिर 112 रन बनाकर आउट हो गए। वॉर्नर और स्टीव स्मिथ के विकेट के बाद बांग्लादेशी गेंदबाज ने कंगारू टीम पर हावी होने लगे और कोई भी ऑस्ट्रलियाई बल्लेबाज ज्यादा अच्छा खेल नहीं दिखा पाया नतीजा यह हुआ कि हाथ में नजर आ रही जीत फिसल गई और बांग्लादेश ने मैच 20 रनों से जीत लिया।

शाकिब अल हसन रहे मैच के हीरो

बांग्लादेश ने पहली बार किसी टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया को हराने का कमाल किया है। बांग्लादेश की इस ऐतिहासिक जीत के नायक शाकिब अल हसन रहे। उन्होंने पहली पारी में 84 रन बनाए और गेंदबाजी में भी कमाल दिखाते हुए पांच विकेट अपने नाम किए। दूसरी पारी में वह बल्ले से भले ही नाकाम रहे, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के अहम बल्लेबाजों को अपनी फिरकी के जाल में फंसाया और फिर से पांच विकेट निकाले।

ऐसा रहा तीन पारियों का हाल

इस मैच में बांग्लादेश ने पहली पारी में तमीम इकबाल (71) और शाकिब अल हसन (84) की मदद से 260 रन बनाए थे, जिसके जवाब में ऑस्ट्रेलियाई टीम पहली पारी में मैट रेनशॉ (45), एश्टन एगर (41) और पीटर हैंड्सकॉम्ब (33) की मदद से केवल 217 रन ही बना सकी। बांग्लादेश ने दूसरी पारी में तमीम इकबाल (78) और मुशफिकुर रहीम (41) की मदद से 221 रन बनाए थे और ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए चौथी पारी में 265 रनों का लक्ष्य दिया था।

पूरे मैच में स्पिनरों की रही धूम

इस मैच में बांग्लादेशी स्पिनरों की घूमती गेंदों के सामने ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज चकमा खा गए। ऑस्ट्रेलिया की ओर से भी स्पिनर नाथन लियोन को काफी सफलता मिली और उन्होंने दूसरी पारी में छह विकेट चटकाए, लेकिन उनका यह प्रदर्शन टीम को जीत दिलाने के लिए नाकाफी रहा। पूरे मैच की बात करें तो कुल 40 में से 34 विकेट स्पिनरों ने ही निकाले।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar