National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

बेघर होने के डर से हजारों लोगों ने निकला फरीदाबाद की सडक़ों पर रोष मार्च

फरीदाबाद। नगर निगम द्वारा आशियाने तोड़े जाने के विरोध में आज शिवालय कालोनी, वाल्मिकी कालोनी और हरिजन बस्ती के लगभग हजारों लोगों ने हाथों में भाजपा सरकार के पुतले लेकर पूरे शहर में रोष मार्च निकाला और भाजपा पर दलित विरोधी सरकार होने का आरोप लगाया। कालोनियों को 11 अक्टूबर के दिन तोडने का नोटिस मिला है जो कि अब 9 अक्टूबर को ही तोड दी जायेंगी, पिछले 60 सालों से रह रहे लोगों की मांग है कि उन्हें यहीं पर बसाया जाये अन्यथा जेसीबी के सामने अपनी जान दे देंगे। गौरतलब है कि शिवालय कालोनी, वाल्मीकि कालोनी और हरिजन बस्ती के सैकडों लोगों ने आज प्रशासन व सरकार के खिलाफ जमकर रोष प्रदर्शन निकाला। इन लोगों को नगर निगम द्वारा बेघर किए जाने का नोटिस दिया गया है, जबकि ये लोग पिछले 60 वर्षाे से यहां रह रहे है। इसी से क्षुब्ध होकर सभी ने शहर की सडकों पर रोष मार्च निकाला, और भाजपा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। लोगों का कहना था की यहाँ पर पिछले 50 – 60 साल से वह रह रहे है और उन्हें यही रहने दिया जाए। अगर उनके यहां तोड़ फोड़ की कार्यवाही हुई तो वह और तो कुछ नहीं कर सकते लेकिन वह अपने बच्चो समेत जीसीबी के आगे लेट जाएंगे बेशक इसके लिए उन्हें अपनी जान ही क्यों ना देनी पड़े।
वहीं महिलाओं ने बताया कि वो सभी अपने अशियानों को बचाने के लिये मौजूदा विधायक सीमा त्रिख, केबिनेट मंत्री और केन्द्रीय मंत्री का भी दरवाजा खटखटा चुकी है जहां से उन्हें बस एक ही जबाब मिला है कि कोर्ट का आदेश है वो कुछ नहीं कर सकते। महिलाओं ने कहा कि बिजली पानी सीवर सहित सभी सुविधाओं का कर देने के बाद भी उनके घर तोडे जा रहे हैं, अगर घर टूटे तो सभी लोगा अपने परिवार के साथ विधायक मंत्री के घर के सामने धरना देंगे।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar