National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

बैंकों में 30 सितंबर तक खोलना होगा आधार सेंटर, नहीं तो लगेगा 20 हजार जुर्माना

नई दिल्‍ली। बैंकों को 30 सितंबर तक अपनी 10 फीसदी ब्रांच में आधार एनरोलमेंट सेंटर खोलना होगा। अगर बैंक ऐसा नहीं करते हैं तो उनको हर ब्रांच के हिसाब से 20,000 रुपए फाइन देगा होगा। नए सर्कुलर में कहा गया है कि सरकार आधार सर्विस सेंटर स्थापित करने की कोशिश कर रही है, ताकि एकाउंट होल्डर 31 दिसंबर तक आधार नंबर से अपने खातों को लिंक कर सकें।

वहीं, जो लोग अपनी केवाईसी डिटेल को 31 दिसंबर तक पूरा नहीं कर लेते हैं, उनकी बैंकिंग से जुड़े काम-काज से रोक दिया जाएगा। बताया जा रहा है कि इस काम के लिए बैंकों ने और अधिक समय की मांग की थी, इसलिए उन्‍हें 30 सितंबर तक का समय और दिया गया है। कई बैंकों ने यूआईडीएआई को जानकारी दी है कि बॉयोमेट्रिक डिवाइसेज खरीदने, एनरोलमेंट ऑपरेशन का सर्टिफिकेशन और एनरोलमेंट एजेंसियों के पहचान की प्रक्रिया जारी है।

ऐसे में बैंकों को 1 माह का अतिरिक्‍त समय दिया गया है। अथॉरिटी ने उम्‍मीद जताई है कि बैंक तय समय में काम पूरा कर लेंगे। गौरतलब है कि बैंक अकाउंट खोलने और 50,000 रुपए या इससे अधिक राशि के लेन-देन के लिए आधार डिटेल देना जरूरी कर दिया गया है। मौजूदा अकाउंट होल्‍डर्स को भी 31 दिसंबर तक आधार डिटेल देनी होगी।

फिलहाल देश में करीब एक लाख 20 हजार बैंक ब्रांच हैं। इनमें से 10 फीसद ब्रांच में आधार एनरोलमेंट सेंटर खुलना है। इस तरह से देश भर में 12000 एनरोलमेंट सेंटर खुलेंगे। यूआईडीएआई सीईओ का कहना है कि बैंकों के परिसर में एनरोलमेंट सेंटर होने से आम लोगों को सुविधा होगी। इससे लोग आसानी से आधार एनरोलमेंट कराने के साथ किसी भी तरह का करेक्‍शन भी करा सकेंगे।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar