National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

ब्राह्मण सेना का स्थापना दिवस धूमधाम से मनाया गया

विजय न्यूज़ ब्यूरो
नई दिल्ली। ब्राह्मण सेना का 18वां स्थापना दिवस समारोह शिवमंदिर, नई दिल्ली में भगवान परशुराम की वैदिक मंत्रोपचार पूर्वक पूजा अर्चना, श्री परशुराम चालीसा के पाठ के साथ मनाया गया। समारोह में देशभर के बुद्धिजीवी, ब्राह्मण समाज के प्रतिनिधि उपस्थित हुए। अपने संबोधन में ब्राह्मण सेना के संस्थापक अध्यक्ष संस्कृत पुत्र पंडित राकेश कुमार मिश्रा ने कहा कि संस्कार-संस्कृति-संस्कृत-गौ-गंगा-गीता-गायत्री के रक्षा करने तथा चरित्र निर्माण-समाज निर्माण तथा देश के विकास के लिए ब्राह्मण सेना की स्थापना की गई थी। अपने स्थापना काल से ही ब्राह्मण सेना अपने उद्देश्य पूर्ति में लगातार क्रियाशील है। ब्राह्मण सेना के संस्थापक अध्यक्ष ने कहा कि ‘‘ब्राह्मण सेना संगठन नहीं विचारधारा है।’’ दलगत भावना से ऊपर उठकर समाजिक जागृति ही इसका प्रमुख कार्य है। उन्होंने कहा कि ‘‘हमारा प्रयास मदिरालय नहीं, पुस्तकालय का विकास होना चाहिए।’’ संस्कृतपुत्र ने ब्राह्मण सेना के तीन सूत्री मिशन-1. भगवान श्री परशुराम जयन्ति को राष्ट्रीय पर्व घोषित करना। 2. पढो और बढ़ो को राष्ट्रीय शिक्षा नीति बनाना। 3. एकराष्ट्र-एक भाषा और एक लिपि को अनिवार्य कानून बनाने पर जोर देते हुए कहा कि तीन मिशन के पूरा होते ही भारत सर्वशक्तिशाली राष्ट्र की ख्याति प्राप्त कर सकता है। इस अवसर पर प्रभुनाथ पांडेय मंडली द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया। समारोह में पंडित राजबली पान्डेय, ओ.पी. शर्मा (ज्योतिषाचार्य), पं. श्याम शास्त्री, वीरेन्द्र आचार्य, सुधाकर शर्मा, विनय कुमार, सुरेन्द्र तिवारी ने भी अपने विचार व्यक्त किये।

Print Friendly, PDF & Email
Tags:
Skip to toolbar