National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

भाजपा ने दिल्ली के कुल 8 लाख बनिया वोटरों में से 4 लाख के नाम क्यूँ कटवाए : केजरीवाल

  • मोदी बनियों के लिए हानिकारक है : आप
  • चुनाव के वक्त पैसों के लिए बनिया समाज का इस्तेमाल करती है बीजेपी : आप
    नई दिल्ली। अपने एक ट्वीट के वजह से भाजपा नेता विजय गोयल शनिवार को बुरे फंसे। उनके ट्ववीट पर आम आदमी पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने जब उनसे सवाल पूछना शुरू किया तो उनकी बोलती बंद हो गई और वह भाग खड़े हुए।
    विजय गोयल ने शनिवार को एक ट्ववीट में लिखा कि आम आदमी पार्टी द्वारा लगाया गया यह इलज़ाम बिल्कुल बेबुनियाद है कि भाजपा चुन-चुन कर दिल्ली के मतदाता सूची से बनिया समाज का नाम कटवा रही है! उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के 73 कैबिनेट मंत्रियो में से 2 मंत्री बनिया समाज से हैं! इसके बाद आम आदमी पार्टी के नेताओं, कार्यकर्ताओं और अन्य लोगों ने उनसे सवाल पूछने शुरू कर दिये। लेकिन विजय गोयल ने इन सवालों पर चुप् पी साध ली।
    आम आदमी पार्टी संयोजक अरविन्द केजरीवाल ने ट्विटर के माध्यम से पूछा कि “भाजपा ने दिल्ली के कुल 8 लाख बनिया वोटरों में से 4 लाख के नाम क्यूँ कटवाए, जवाब दीजिए विजय गोयल जी! भाजपा की नोटबंदी, GST जैसे गलत नीतियों की वजह से व्यापरियों के धंधे चौपट हो गए! इसीलिए बनिए इस बार भाजपा को वोट नहीं दे रहे! तो क्या इसका मतलब आप उनके वोट कटवा दोगे? ऐसे जीतोगे?”
    विजय गोयल को आड़े हाथों लेते हुए आम आदमी पार्टी के के राज्य सभा सांसद संजय सिंह ने लिखा “दिल्ली कैबिनेट के सात में से 2 सदस्य बनिया समाज से हैं! दिल्ली विधानसभा के स्पीकर बनिया समाज से हैं! भाजपा का 80 प्रतिशत चंदा बनिया समाज से ही आता है, फिर 73 में से केवल 2 मंत्री बनिया समाज से हैं! क्या मज़ाक है विजय गोयल जी?”
    संजय सिंह ने अपने अगले ट्वीट में लिखा, “नौकरशाह स्वर्गीय बी.के. बंसल जी को आत्महत्या करने पर मजबूर किया गया। उन्होंने अपने स्युसाइड नोट में साफ तौर पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का नाम लिखा था। बंसल जी भी बनिया समाज से थे। विजय गोयल जी, इस घटना से यह साफ़ है की भाजपा बनिया विरोधी पार्टी है।”
    आप के उत्तरी-पूर्वी लोकसभा प्रभारी दिलीप पाण्डेय ने ट्विटर के माध्यम से विजय गोयल से सवाल दागते हुए लिखा, “विजय गोयल जी की बीजेपी का अद्भुत बनिया प्रेम का मर्म-तुम चंदा देते रहो, हम धंधा उजाड़ते जाएंगे! तुम मंच सजाते रहो, हम रेड करते जाएँगे! तुम लंच खिलते रहो, हम सीलिंग करवाते जाएंगे! जैसे ही पता चला बनिया समाज वोट नहीं देगा, उनके वोट कटवा दिए! एंटी-बनिया बीजेपी का खेल ख़त्म।”
    आप पूर्वी लोकसभा प्रभारी आतिशी ने भी ट्विटर पर विजय गोयल को जवाब देते हुए लिखा, “बीजेपी का बनिया प्रेम सिर्फ चुनाव के समय दिखता है क्योंकि उन्हें बनिया समाज से चंदा चाहिये होता है। चुनाव के बाद वो बनिया सामज को नोटबंदी, जीएसटी और सीलिंग जैसे तोहफे देते हैं।”
    विजय गोयल को जवाब देते हुए आप के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भरद्वाज ने लिखा, “विजय गोयल जी, मोदी का बनियों को तोहफा: नोटबंदी करके धंधा बर्बाद किया, सीलिंग से किस्मत सील की, जीएसटी ने व्यापर ख़त्म किया, देश भर में बनियों पर रेड और अब वोट भी कटवा रहे हैं। साफ है मोदी बनियों के लिए हानिकारक है।”
    साउथ दिल्ली लोकसभा प्रभारी राघव चड्ढा ने विजय गोयल को जवाब देते हुए कहा मध्य प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों में से भाजपा ने बनिया समाज के एक भी सदस्य को टिकट नहीं दिया। वो भी तब जब उनका 80 प्रतिशत चंदा बनिया समाज से आता है! साफ है BJP बनियों के खिलाफ है।”
    भाजपा ने चुनाव आयोग के साथ मिलकर दिल्ली की मतदाता सूची से 30 लाख मतदाताओं के नाम कटवा दिए हैं। और इन काटे गए नामों में मुख्य रूप से तीन समुदायों के नाम बहुतायत मात्रा में काटे गए हैं। इन तीन समुदायों में पूर्वांचली समाज, मुस्लिम समाज और बनिया समाज शामिल है।
    जब से ये बात आम आदमी पार्टी के संज्ञान में आई है कि भाजपा ने दिल्ली में एक षड्यंत्र के तहत अपने विरोधी लोगों के वोट कटवा दिए हैं ताकि वो भाजपा के विरोध में वोट न कर सके, आम आदमी पार्टी लगातार हर स्तर पर इसका पुरजोर विरोध कर रही है। आम आदमी पार्टी ने कई बार प्रेस वार्ता के माध्यम से विधानसभा वाइज़ काटे गए नामों का ब्यौरा मीडिया के साथ साझा किया। और अब पुरजोर तरीके से काटे गए नामों को दौबारा से मतदाता सूची में चढ़वाने पर काम कर रही है।
Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar