National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

भारतीय टीम को जीत के लिए चाहिये छह विकेट, आस्ट्रेलिया दूसरी पारी 104/4

भारत दूसरी पारी 307
ऐडिलेड । टीम इंडिया और मेजबान ऑस्ट्रेलिया के बीच पहला क्रिकेट टेस्ट मैच रोमांचक हाल में पहुंच गया है। भारतीय टीम को इस मैच में जीत के लिए छह विकेटों की जरुरत है। भारतीय टीम ने दूसरी पारी में 307 रन बनाकर मेजबान ऑस्ट्रेलियाई टीम को जीत के लिए 323 रनों का लक्ष्य दिया। भारतीय टीम ने पहली पारी में 250 रन बनाये थे जबकि मेजबान टीम 235 रनों पर आउट हो गयी। इस प्रकार भारतीय टीम को पहली पारी के आधार पर 15 रनों की बढ़त मिली हुई है।
इस प्रकार जीत के लिए मिले 323 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए मेजबान टीम ने चौथे दिन का खेल खत्म होने तक चार विकेट के नुकसान पर केवल 104 रन बनाये हैं। इस प्रकार मेजबान टीम अब भी लक्ष्य से 219 रन दूर है और उसके पास केवल छह विकेट बचे हैं। दिन का खेल खत्म होने तक शॉन मार्श 31 और ट्रेविस हेड 11 रन बनाकर बल्लेबाजी कर रहे हैं। ऐसे में अंतिम दिन ऑस्ट्रेलियाई टीम के बचे हुए बल्लेबाज किस हद तक भारतीय गेंदबाजों का सामना कर पाते हैं यह देखना होगा।
ईशांत शर्मा ने दूसरी ही गेंद पर सलामी बल्लेबाज एरॉन फिंच को एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया। जिसके बाद फिंच ने डीआरएस लिया और रिप्ले में साफ हुआ कि गेंद नो बॉल है। इस तरह फिंच किस्मत से बच गये पर वह इसका लाभ नहीं उठा पाये और रविचंद्रन अश्विन की गेंद पर विकेट के पीछे ऋषभ पंत के हाथों कैच आउट हो गये। फिंच 11 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। उस समय ऑस्ट्रेलियाई टीम का स्कोर 28 रन था। शमी ने 44 रन के स्कोर पर मार्कस हैरिस को ऋषभ के हाथों कैच आउट कराकर ऑस्ट्रेलिया को दूसरा झटका दिया। हैरिस 26 रन बनाकर आउट हुए। अश्विन ने उस्मान ख्वाजा को रोहित शर्मा के हाथों कैच करा कर भारत को एक बड़ी सफलता दिलाई। ख्वाजा 8 रन बनाकर आउट हुए।
इसके बाद शमी ने पीटर हैंड्सकॉम्ब और शॉन मार्श की जोड़ी को तोड़ा। हैंड्सकॉम्ब शमी की गेंद पर पुजारा के हाथों कैच हुए। हैंड्सकॉम्ब ने 40 गेंदों में 14 रन बनाये। भारतीय गेंदबाजों रविचंद्रन अश्विन और मोहम्मद शमी ने शानदार गेंदबाजी कर ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम को दबाव में ला दिया। दूसरी पारी में अश्विन और शमी ने दो-दो खिलाड़ियों को पेवेलियन भेजा।
इससे पहले सुबह भारत ने तीन विकेट पर 151 रन से आगे खेलना शुरू किया तथा पहले सत्र में अच्छी तरह से अपनी पारी आगे बढ़ायी। चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे ने चौथे विकेट के लिये 87 रन की साझेदारी कर टीम को अच्छे लक्ष्य तक पहुंचाया। इसके बाद
भारतीय टीम ने अपने पांच विकेट पर 25 रन के अंदर खो दिये। पुजारा 71 और रहाणे 70 ने शानदार अर्धशतक लगाकर भारतीय टीम को संभाला और उसे तीन सौ के पार पहुंचाया।
मोहम्मद शमी बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में खाता खोले बिना ही पेवेलियन लौट गये। इशांत के आउट होने के साथ ही भारतीय पारी सिमट गयी। पहली पारी में शतक जड़ने वाले पुजारा ने शुरू में ही दो चौके लगाकर आक्रामक अंदाज में शुरुआत की। इस प्रकार भारत ने 77वें ओवर में 200 रन पूरे किये और पुजारा ने 140 गेंदों पर अपना 20वां अर्धशतक पूरा किया। वहीं रहाणे ने 111 गेंदों पर अपना 16वां अर्धशतक पूरा किया। भारत ने लंच के बाद 47 रन जोड़े और इस बीच पांच विकेट खो दिये। ऋषभ ने 28 रन बनाये। वहीं दूसरी ओर ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर नाथम लियोन ने 122 रन देकर छह विकेट लिए। अश्विन ने पांच रन बनाये। आस्ट्रेलिया ने 80 ओवर के तुरंत बाद नयी गेंद ली पर स्टार्क प्रभावी नहीं दिखे।
आस्ट्रेलिया को आखिर में 88वें ओवर में दिन की पहली सफलता मिली जब लियोन ने पुजारा को शार्ट लेग पर कैच आउट कराया। पुजारा जब पवेलियन लौट रहे थे तो दर्शकों ने खड़े होकर उनका अभिवादन किया। उन्होंने इस मैच में 450 गेंदों का सामना किया। वह आस्ट्रेलियाई जमीन पर एक मैच में सर्वाधिक गेंदों का सामना करने वाले भारतीय बल्लेबाजों की सूची में सचिन तेंदुलकर (525 गेंदें, सिडनी, 2004) के बाद दूसरे स्थान पर पहुंच गये हैं। इसके बाद रोहित शर्मा केवल एक रन बनाकर पेवेलियन लौट गये। लियोन की गेंद पर पीटर हैंड्सकांब ने उनका कैच लिया।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar