न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

भारत में नियुक्त 14 देशों के राजदूतों को ‘मैंसेंजर आॅफ पीस’ पुरस्कार

नयी दिल्ली। भारत में फ्रांस के राजदूत अलेक्जेंडर ज़िगलर, जर्मनी के राजदूत डॉ. मार्टिन नै, जापान के राजदूत केंजी हीरामात्सू, भूटान के राजदूत मेजर जनरल वर्सोप मंजील और कंबोडिया के राजदूत पिचखुन पानहाम को मैसेंजर आॅफ पीस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

पर्यटन के माध्यम से शांति प्रयासों को बढ़ावा देने वाले गैर सरकारी संगठन ‘इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट फॉर पीस थ्रू टूरिज्म’ ने आज यहां बताया कि “डिप्लोमैट्स फॉर पीस” अायोजन में दुनियाभर के 95 देशों के प्रतिनिधियों को सम्मानित किया गया। ये सम्मान पर्यटन के माध्यम से शांति को बढ़ावा देने में संबंधित देशों के योगदान के लिए दिया गया। कई राजनयिक मिशनों के प्रमुखों को भी सम्मानित किया गया। ये सम्मान उनके देशों द्वारा पर्यटन के जरिए विभिन्न मानवतावादी और शांति प्रयासों के लिए दिया गया। समारोह में 14 देशों के राजदूतों को मैसेंजर अॉफ पीस पुरस्कार से सम्मनित किया गया। यह सम्मान

भारत में कनाडा के उच्चायुक्त एच.ई. नादिर पटेल, कोलंबिया के राजदूत मोनिका लांजेटा मुतिस, मेक्सिको के राजदूत, मेल्बा पेरिया, रवांडा के उच्चायुक्त अर्नेस्ट रवाम्यूसीओ, स्पेन के राजदूत जोस रेमन बरानानो फर्नांडीज़, श्रीलंका की उच्चायुक्त चित्रांगनी वागीसवारा, स्विट्जरलैंड के राजदूत डॉ. एंड्रियास बाउम, संयुक्त अरब अमीरात के राजदूत डॉ अब्दुल रहमान अल्बाना और ब्रिटेन के उच्चायुक्त सर डोमिनिक असक्विथ को भी प्रदान किया गया।

‘इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट फॉर पीस थ्रू टूरिज्म’ की स्थापना वर्ष 1986 में डॉ. लुई डी’अमोरे ने संयुक्त राष्ट्र अंतर्राष्ट्रीय शांति वर्ष में की थी। पूरे अभी की संगइन ने विश्व में 17 अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलनों और शिखर सम्मेलनों का आयोजन किया है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar