National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

भिलाई इस्पात संयंत्र में बड़ा हादसा, 13 की मौत, 12 घायल, 4 गंभीर

 घायलों का सेक्टर 9 हॉस्पिटल में चल रहा है इलाज

भिलाई । भिलाई इस्पात संयंत्र के कोक ओवन 11 नंबर में रिपेयरिंग के कार्य के समय वेल्डिंग के दौरान गैस पाइप लाइन में अचानक हुए विस्फोट से 13 संयंत्र कर्मियों की मौत हो गई वहीं 12 लोग बूरी तरह गैस रिसाव के कारण घायल हो गये है जिसमें 4 लोगों की स्थिति बेहद नाजुक है। घटना की जानकारी मिलते ही कलेक्टर उमेश अग्रवाल, आई जी जी पी सिंह, एस पी डॉ. संजीव शुक्ला संयंत्र के अंदर घटना स्थल पर पहुंच गये है। वहीं संभाग आयुक्त दिलीप वासनीकर सेक्टर 9 हॉस्पिटल पहुंचकर घायलों की स्थिति का जानकारी ले चुके है। बताया जा रहा है कि लोग इतनी बुरी तरह झुलस गये हैं कि कौन कौन है यह पहचान नही पा रहे हैँ।
हालांकि दुर्ग रेंज के आईजी जी पी सिंह ने बताया कि घटना के समय वहां 24 लोग मौजूद थे जिसमें अभी तक 4 लोगों का अता पता नही है। उनका पता लगाया जा रहा है। कोक ओवन में घटना होते ही यहां भारी अफरा तफरी मच गई। बताया जाता है कि ब्लास्ट के बाद यहां की जहरीली गैस रिसने लगी थी जिसकी चपेट में करीब दो दर्जन कर्मचारी आ गए। सूचना पर मेन मेडिकल पोस्ट से एंबुलेंस बुलवाकर झुलसे सभी कर्मचारियों को सेक्टर-9 अस्पताल रवाना किया गया। यहां गम्भीर रूप से झुलसे 13 कर्मियों की मौत हो गई, 12 लोग घायल हो गये है जिसमेंं 4 कर्मचारियों की स्थिति नाजुक बताई जा रही है। उन्हें यहां के पं. जवाहरलाल नेहरू हॉस्पिटल सेक्टर 9 के बर्न यूनिट में भर्ती कराया गया है। घटना के बाद बीएसपी, पुलिस व प्रशासन के बड़े अधिकारी मौके पर पहुंचे।
बताया जाता है कि आज सुबह करीब 11 बजे बीएसपी के कोक ओवन में गैस पाइप लाइन में जबरदस्त विस्फोट हो गया। जिससे आग की बड़ी-बड़ी लपटें उठने लगी। इससे प्लांट में हड़कम्प मच गई। प्लांट में काम कर रहे कर्मियों को जब तक कुछ समझ आता, तब तक वे आग और गैस की चपेट में आ चुके थे। बताया जाता है कि पाइप लाइन फटने के बाद मौके पर स्थितियां बेहद भयावह थी। आग की जोरदार लपटों के बीच संयंत्र कर्मी चीख-पुकार कर रहे थे। हादसा किस वजह से हुआ, इसकी जांच की जा रही है।
खबर मिलते ही बीएसपी के सीईओ एम रवि, कलेक्टर उमेश अग्रवाल, आईजी दुर्ग रेंज जीपी सिंह, एसपी डॉ संजीव शुक्ला, एएसपी शहर विजय पांडेय, एसडीएम संजय अग्रवाल, सीएसपी भिलाई नगर श्याम सुन्दर शर्मा, महापौर देवेन्द्र यादव सहित कई अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों ने सेक्टर-9 हास्पिटल पहुंचकर दुर्घटना की जानकारी ली। इस्पात मंत्रालय ने भी दुर्घटना की रिपोर्ट बीएसपी प्रबंधन से मांगी है। बताया जाता है कि कोक ओवन में दुर्घटना की खबर फैलते ही संयंत्र के अन्य इकाईयों में अफरा तफरी मच गई। संयंत्र में पहली पाली की ड्यूटी में गए अधिकारी कर्मचारियों के परिजनों चिंता की लकीरे उभर आई। लोगो में अपने संयंत्र कर्मी रिश्तेदार की कुशलक्षेम जानने की होड़ मची रही।
परिजनों ने किया प्रबंधन के विरूद्ध नारेबाजी
घटना की सूचना मिलने के बाद संयंत्र में काम कर रहे कर्मी व पीडि़त कर्मियों के परिजन मेन गेट पर पहुंचे और प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी की। सूचना पर जिला और पुलिस प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची और विस्फोटक हो रहे हालातों को नियंत्रित किया।
याद आई 12 जून 2014 की त्रासदी
भिलाई इस्पात संयंत्र में गैस हादसों की बात की जाए तो 12 जून 2014 की वह शाम कोई नहीं भूल सकता। ब्लास्ट फर्नेस क्रमांक 1 में गैस की दो पाइपलाइन फट गई थी जिससे जहरीली मिथेन गैस का रिसाव हुआ था। इस हादस में बीएसपी के तीन अधिकारियों सहित 6 लोगों की मौत हो गई थी। वहीं लगभग 20 से अधिक कर्मचारी इसकी चपेट में आने से घायल हो गए थे। इस घटना ने भिलाई ही नहीं बल्कि पूरे देश को हिलाकर रख दिया था।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar