न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

मंगलवार रात गुजरात पहुँचेगा ओखी

नयी दिल्ली। चक्रवाती तुफान ओखी के मंगलवार की रात गुजरात और महाराष्ट्र पहुँचने की संभावना है, हालाँकि मौसम विभाग ने इस दौरान इसके कमजोर पड़ने का भी पूर्वानुमान जताया है। इस बीच कैबिनेट सचिव पी.के. सिन्हा ने दोनों राज्यों के मुख्य सचिवों के साथ इससे निपटने की तैयारी की समीक्षा की।
मौसम विभाग ने आज बताया कि सोमवार शाम 5.30 बजे ओखी तूफान पूर्व मध्य अरब सागर में सूरत से 720 किलोमीटर और मुंबई से 540 किलोमीटर की दूरी पर था। इसके उत्तर-उत्तर पूर्व की ओर बढ़ने की संभावना है। रास्ते में कुछ कमजोर होता हुआ यह ‘गहरे दबाव के क्षेत्र’ के रूप में मंगलवार रात सूरत और महाराष्ट्र के निकटवर्ती इलाकों में तट से टकरायेगा।
साथ ही विभाग ने बताया कि दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी तथा निकटवर्ती दक्षिण अंडमान की खाड़ी और हिंद महासागर में एक और कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है जिसके अगले 48 घंटे में गहरे दबाव क्षेत्र में बदलने की संभावना है। यह अगले तीन दिन में उत्तरी तमिलनाडु और दक्षिणी आँध्र प्रदेश पहुँच सकता है।
श्री सिन्हा की अध्यक्षता में यहाँ राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति की बैठक हुई जिसमें ओखी से प्रभावित राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में राहत एवं बचाव कार्यों का जायजा लिया गया। महाराष्ट्र और गुजरात में इससे निपटने की तैयारियों की भी समीक्षा की गयी।
बंगाल की खाड़ी में बन रहे एक और गहरे दबाव क्षेत्र के मद्देनजर समिति ने तमिलनाडु, आँध्र प्रदेश और अंडमान निकोबार द्वीप समूह के मुख्य सचिवों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बात की और तैयारियों के बारे में जानकारी हासिल की। समिति ने राज्यों के सचिवों को जरूरी निर्देश भी दिये। मछुआरों तथा आम लोगों को आवश्यक परामर्श जारी कर दिये गये हैं।
सेना तथा अर्द्धसैनिक बलों ने राष्ट्रीय आपदा राहत बल और स्थानीय सरकारी एजेंसियों के साथ मिलकर अब तक ओखी में फँसे डेढ़ हजार से ज्यादा मछुआरों को बचाया है। तमिलनाडु में 243, केरल में 250 और लक्षद्वीप में 1,047 मछुआरों को बचाया गया है।
अजीत उनियाल

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar