National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

मासूमों की मौत पर 28 घंटे बाद योगी ने तोड़ी चुप्पी, जिम्मेदारी के बजाय गिनाए आंकड़े

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 63 बच्चों की मौत के मामले पर चुप्पी तोड़ी है. योगी ने कहा कि ऑक्सीजन की कमी से मौत का मामला जघन्य है और दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घटना पर दुख जताया है और सभी तरह की मदद का आश्वासन दिया है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा और अनुप्रिया पटेल स्थिति पर निगाह रखने के लिए प्रधानमंत्री के निर्देश पर गोरखपुर आए हैं.

योगी ने सात अगस्त से बीआरडी कॉलेज में हुई मौत के आंकड़े भी सामने रखें-

– 7 अगस्त को कुल 9 मौतें

– 8 अगस्त को कुल 12 मौतें

– 9 अगस्त को कुल 9 मौतें

– 10 अगस्त को 23 मौतें

– 11 अगस्त को कुल 11 मौतें

मासूमों की मौत के लिए कौन जिम्मेदार?

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जानकारी मिलते ही मैंने मंत्रियों को निरीक्षण के लिए भेजा और कहा कि मामले की पूरी जानकारी जुटाए ताकि चीजें साफ हो सके. योगी ने कहा कि तीन चीजें हमें पता लगानी हैं और इसकी जांच के आदेश दिए गए हैं. पहला कि क्या सचमुच ऑक्सीजन की सप्लाई रूकने से मौत हुई हैं? और दूसरा कि मौत के सही आंकड़े क्या हैं. तीसरा की घटना के लिए किसकी लापरवाही जिम्मेदार है. मुख्यमंत्री ने कहा कि पीड़ित परिवारों के साथ सरकार की संवेदना है. सरकार ने मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं और उसकी रिपोर्ट दी गई है. विकास के किसी भी कार्य में कोई अनावश्यक व्यवधान न आने पाए. इसके बारे में विभाग को जानकारी दी गई है.

सप्लायर की भूमिका की जांच के आदेश

उन्होंने कहा कि सप्लायर की भूमिका की जांच के बारे मुख्य सचिव को आदेश दिया गया है. सही तथ्यों को अगर रख पाएंगे तो मानवता के लिए बेहतर होगा. ऑक्सीजन की कमी से अगर मौत हुई है तो ये जघन्य है. 9 अगस्त को मेरे साथ चिकित्सा शिक्षा मंन्त्री भी गए थे.

गोरखपुर कांड संवेदनशील मसला

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में बीजेपी सरकार बनते ही हमने आदेश दिया था कि इमरजेंसी सेवाओं में कोई व्यवधान न आने पाए. गोरखपुर कांड बहुत संवेदनशील मसला है. इंसेफ्लाइटिस से लड़ते रहेंगे. उन्होंने कहा कि मैंने 2 बार बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज का दौरा किया और चीजों की जानकारी प्राप्त की.

BRD मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल को हटाया

योगी ने कहा कि मेरे दौरे के बाद प्रिंसिपल बिना बताए चले गए थे इसीलिए प्रथमदृष्टया उनको हटाया गया है. गोरखपुर में केवल वही के बच्चे नहीं आते, आसपास के जिले से भी मरीज आते है. मौत के कारण क्या है, मौत के आंकड़े क्या है? इसकी जानकारी के लिए दोनों मंत्रियो को भेजा गया था.

‘PM के निर्देश पर गोरखपुर आई हूं’

मुख्यमंत्री के बोलने के बाद माइक पकड़ने वाली केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने कहा कि जो घटना बीआरडी मेडिकल कॉलेज में हुई है. उससे हम दुखी हैं. प्रधानमंत्री के निर्देश पर आई हूं. गोरखपुर के दौरे से आए दोनों मंत्रियों और मुख्यमंत्री के साथ बातचीत हो गई है. भारत सरकार हर तरह के सहयोग करने को तैयार है.

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar