National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

मुंबई की तर्ज पर फरीदाबाद में हुई झमाझम बरसात ने बढ़ाई लोगों की परेशानी

स्मार्ट सिटी की खुली पोल, सेक्टर, कालोनी, राजमार्ग सब हुए पानी-पानी
कांग्रेसी विधायक ने लगाया आरोप भाजपा ने तीन वर्ष में विकास नहीं बल्कि किया है विनाश

स्मार्ट सिटी की खुली पोल, सेक्टर, कालोनी, राजमार्ग सब हुए पानी-पानी

मनोज तोमर/विजय न्यूज ब्यूरो
फरीदाबाद। मुंबई की तर्ज पर फरीदाबाद में भी आज सुबह से शुरु हुई झमाझम बारिश ने शहरवासियों की परेशानियों को बढ़ा दिया। इस दौरान जहां लोगों को गर्मी से तो राहत मिली परंतु सडक़ों पर कई-कई फुट पानी भर जाने के कारण लोगों को आवागमन में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। हालात ऐसे हो गए कि सडक़ों पर बने नाले-नालियां जलभराव के चलते भर गए और उसमें कई वाहन तक फंस गए। राष्ट्रीय राजमार्ग सहित पॉश सेक्टरों और नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत आने वाले कालोनियों में स्थिति बद से बदत्तर हो गई। एक दिन की बरसात ने फरीदाबाद के विकास की पोल पूरी तरह से खोलकर रख दी और नगर निगम के तमाम दावे पूरी तरह से बेसर साबित हुए। स्मार्ट सिटी की ऐसी कोई सडक़ नहीं बची, जो पानी से तर-ब-तरस न हुई हो। नवरात्रे होने के कारण मंदिरों में आने वाले श्रद्धालुओं को भी इस बरसात से भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। इस बेमौसमी बरसात ने आम जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त कर दिया। गौरतलब है कि मुंबई में पिछले एक पखवाड़े से जारी बरसात का असर आज फरीदाबाद में भी उस समय देखने को मिला, जब सुबह करीब साढे नौ बजे से शुरु हुई दोपहर तक बदस्तूर जारी रही। झमाझम बरसात के चलते जहां नौकरीपेशा लोगों को आवागमन में परेशानी हुई वहीं स्कूली बच्चों को भी घर आने में दिक्कतों का सामना करना पड़। बरसात के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग बाटा चौक, हार्डवेयर चौक, नंगला रोड, डबुआ कालोनी, एयरफोर्स रोड, चाचा चौक, अटल चौक, नंगला एंक्लेव, सेक्टर-14, 15, 16, 16ए, 17, 18, 19, 21, 22, 23, 24, सोहना रोड, बल्लभगढ़, बडखल, ओल्ड फरीदाबाद, सराय ख्वाजा सहित अन्य मुख्य मार्गाे पर भी जलभराव के कारण वाहन चालक कछुए की तरह रेंगते नजर आए। एकाएक हुई इस बरसात ने एक बार फिर नगर निगम के सभी विकास के दावों को झुठलाते हुए स्मार्ट सिटी की पोल खोलकर रख दी। बरसात के चलते सडक़ों पर हुए गड्ढों के कारण कई चौपहिया वाहन उनमें फंस गए और जिनके चलते यातायात व्यवस्था पूरी तरह से चरमराई गई। माना जा रहा है कि इस बार पूरे मानसून के दौरान ऐसी बारिश नहीं हुई, सुबह से शुरु हुई इस बरसात ने दोपहर बाद तक थमने का नाम नहीं लिया। मौसम विभाग के अधिकारियों ने पहले ही संभावना जताई थी कि 22 से 24 सितंबर तक तीन दिन शहर में बरसात होने की पूरी संभावनाएं है और आज दूसरे नवरात्रे के दौरान हुई झमाझम बरसात ने शहर की आबोहवा को दुर्दशा में तब्दील कर दिया।
बरसात के चलते घर लेट पहुंचे स्कूली बच्चे : आज सुबह से शुरु हुई बरसात के कारण स्कूली बच्चे अपने घरों को लेट पहुंचे। सुबह जिस प्रकार से मौसम और बादलों ने करवट बदली थी, उससे अंदाजा लगाया जा रहा था कि हल्की फुल्की बरसात होगी परंतु साढे नौ बजे शुरु हुई बरसात ने थमने का नाम नहीं लिया और जिसके चलते स्कूली बच्चे बरसात में भीगते हुए देर अपने घरों को पहुंचे। कई बच्चों की स्कूली बसें यातायात के चलते जाम में फंस गई, जिसके चलते उन्हें भी परेशानियों का सामना करना पड़ा।

क्या कहते है विपक्षी नेता :

कांग्रेस के विधायक ललित नागर का कहना है कि आज शहर में हुई छह घण्टे की बरसात ने स्मार्ट सिटी की पोल तो खोल ही दी साथ ही साथ भाजपा नेताओं को आईना दिखाने का काम किया है। जो भाजपा नेता कागजों में विकास की बडी बडी बातें करते थे, वह आज शहर का हाल देखकर खुद शर्मसार होने को मजबूर हो गए। उन्होंने कहा कि केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर के निवास वाली सडक़ पर कई-कई फुट पानी जमा हो जाना यह साबित करता है कि भाजपा ने तीन सालों में विकास नहीं बल्कि विनाश किया है और यह विनाश आने वाले समय में उनका भी विनाश करेगा। उन्होंने कहा कि पूरे फरीदाबाद शहर की कालोनियों, स्लम एरिया और पॉश सेक्टरों में जन जीवन पूरी तरह से प्रभावित हुआ और एक बरसात ने फरीदाबाद के विकास पर सवालिया निशान लगा दिया।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar