National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

मुकुंदरा में बाघ की शिफ्टिंग के खिलाफ दायर याचिका को कोर्ट ने किया खारिज

बूंदी । राजस्थान में मुकुंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व में शिफ्टिंग किए एमटी-1 को लेकर हाड़ौती के वन्यजीव प्रेमियों को बडी राहत मिली है। कोर्ट ने उस याचिका को खारिज कर दिया है, जो अजयशंकर दुबे ने लगाई थी, जिसमें कोटा संभाग के मुकुंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व में बाघों को शिफ्ट करने और उनकी सुरक्षा को लेकर कई सवाल खड़े किए गए थे लेकिन अब दुबे की याचिका को करीब 9 माह चली सुनवाई के बाद हाईकोर्ट ने आज खारिज कर दिया है। ऐसे में अब जल्द ही मुकुंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व के एमटी-1 बाघ का बाघिनों के साथ जोड़ा बनाया जाएगा।
हालांकि अभी कोर्ट ने मुकुंदरा में बाघिनों को शिफ्ट के फैसले को सुरक्षित रखा है। उम्मीद है कि कोर्ट आगामी एक से दो दिन में इस फैसले को सुनाएगी। उसके बाद एनटीसीए सहमति के साथ रणथंभौर से मुकुंदरा में दो बाघिनों को शिफ्ट किया जाएगा और प्रदेश का यह तीसरा टाइगर रिजर्व बाघों से आबाद हो सकेगा।
गौरतलब है कि 3 अप्रैल 2018 को प्रदेश की इस तीसरे टाइगर रिजर्व में रणथंभौर के टी- 91 को बूंदी जिले के रामगढ़ सेंचुरी से ट्रेंक्यूलाइज करके मुकुंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व में शिफ्ट किया था। जिसे एमटी-1 नाम दिया गया है। जो बाघिन के बिना पिछले 9 माह से अकेला रह रहा है। लेकिन अब दो बाघिनों को यहां लाने पर एमटी- 1 बाघ का जोड़ा बनेगा। वर्तमान में मुकुंदरा में 50 से ज्यादा बड़े वन्यजीवों में पैंथर, 50 से ही ज्यादा भालू, चीतल, सांभर, जरख, बडी संख्या में नीलगाय अन्य जंगली जीव हैं।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar