National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गढ़ी कैंट में विकास कार्यो का किया शिलान्यास

देहरादून। रविवार को मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत एवं विधायक गणेश जोशी ने गढ़ी कैंट में 410 लाख के विकास कार्यो का शिलान्यास किया। जल्द ही यह कार्य धरातल पर होगें और क्षेत्रवासियों को इनका सीधा-सीधा मिलेगा। विधायक गणेश जोशी ने पुष्पगुच्छ एवं शॉल औढ़ाकर मुख्यमंत्री का स्वागत किया और प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित भी किया। युवा मोर्चा की टीम ने मुख्यमंत्री एवं विधायक का अजगर माला से स्वागत किया।विकास कार्यो में लोक निर्माण विभाग के माध्यम से 32 मीटर स्पान के वीरपुर पुल को डबल लेन बनाये जाने एवं पेयजल विभाग के माध्यम से गढ़ी कैंट में पेयजल की उपलब्धता हेतु नलकूप निर्माण एवं पेयजल लाइन के गठन का शिलान्यास किया गया।मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने अपने सम्बोधन में कहा कि सरकार सस्टेनेबल व दूरगामी सोच के साथ काम कर रही है। बढ़ते जनसंख्या दबाव में शहरों में पानी की कमी की समस्या के समाधान के लिए दीर्घकालीन उपायों पर काम किया जा रहा है। 1100 करोड़ रूपये की लागत से बनने वाली सौंग बाध परियोजना 2053 तक 35 वर्षो के लिए पूरे देहरादून जिले को चैबीस घण्टे पानी उपलब्ध करवाएगी। इससे 100 करोड़ रूपये का बिजली का खर्च बचेगा। इस साढे़ चार किलोमीटर लम्बी व 128 मीटर ऊंची झील पर व आस-पास के क्षेत्रों में पर्यटन भी विकसित होगा।यह बांध व झील पर्यटन आकर्षण का नया केन्द्र बनेगा। स्थानीय लोगों को अच्छे रोजगार के अवसर भी प्राप्त होंगे। भारत सरकार के स्तर पर इसकी सराहना की गई है कि यह देश के लिए एक मॉडल परियोजना हैं। अन्य राज्य भी इसे अपनाएगें। सौंग बांध निर्माण में ऐसी तकनीक का प्रयोग किया जा रहा है जिसके तहत बरसात के दिनो को छोड़कर इसमें निरन्तर काम चलेगा व रिकॉड 350 दिनों में इसे पूरा किया जाएगा। सौंग परियोजना द्वारा रायपुर क्षेत्र तक ग्रेविटी बेस्ट पानी की आपूर्ति की जाएगी। हम दीर्घकालीन व सस्टेनेबल समाधान की ओर बढ़ रहे है। सौंग बांध की तरह ही देहरादून के मलढुंग में भी इस तरह की एक और परियोजना बनाई जाएगी। इसके साथ ही सूर्यधार परियोजना की टेन्डर प्रक्रिया हो चुकी है। इसके तहत 43 गांवों में ग्रेविटी बेस्ड पानी की आपूर्ति की जाएगी व 7 करोड़ रूपये की बिजली की बचत होगी। किसानों को बारह महीने पानी मिलेगा। बिजली खर्च में बचत से हम सस्ती बिजली भी लोगो व किसानों तक पहुचा पाएगे। आने वाले समय में पूरे देहरादून जिले की 60 प्रतिशत आबादी को ग्रेविटी बेस्ड पानी मिलेगा।मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार दूरगामी सोच के साथ रिस्पना व अन्य नदियों के पुनर्जीवीकरण व वृक्षारोपण का कार्य कर रही है ताकि आने वाली पीढ़ियों को पर्याप्त पानी मिल सके। हम सस्टेनेबल सोच के साथ काम कर रहे है। जल्द ही शुरू होने वाली गैस पाइप लाइन योजना पूरे देहरादून के लिए है तथा हमारी योजना है कि आने वाले 10-12 सालों में पूरे राज्य के दूरस्थ गांवों तक यह गैस पाइप लाइन योजना पहुंचे। इससे हमारे गैस के खर्च में 20 प्रतिशत गिरावट होगी। गैस के परिवहन में लगने वाली ऊर्जा की भी बचत होगी। प्रदूषण कम होगा व पर्यावरण की चिन्ता कम होगी। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का प्रयास है कि 2030 तक डीजल-पेट्रोल के वाहनों को प्रचलन से बाहर किया जाए। अतः भारत सरकार ने इलैक्ट्रिक वाहनों के शुल्क को भी माफ कर दिया है। प्रधानमंत्री की सोच है कि यदि देश को स्वस्थ और मजबूत बनाना है तो पर्यावरण संरक्षित व शुद्ध होना चाहिए। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि यह सरकार आपकी अपनी सरकार है। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ समय में साठ से अधिक लोग जिनमें वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल है भ्रष्ट्राचार के मामलों में जेल में जा चुके है। यह हमारी मुहिम व रोजमर्रे की जिम्मेदारी है कि हम राज्य में भ्रष्ट्राचार को न पनपने दे। राज्य में संसाधनों की कोई कमी नहीं है, जो साधन है उसमें हम काफी कुछ कर सकते है। लेकिन हमने अनुभव किया कि काफी कुछ भ्रष्ट्राचारियों की जेब में चला जाता है। भ्रष्ट्राचार को रोकने की जिम्मेदारी जनता ने हमें दी है उस पर हम लगातार काम कर रहे है।विधायक जोशी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार प्रदेशहित में कार्य कर रही हैं। उन्होनें कहा कि त्रिवेन्द्र सिंह रावत प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री ऐसे हैं जिनकी घोषणाओं को समयबद्ध पूर्ण कर लिया जा रहा है। उन्होनें मसूरी विधानसभा क्षेत्र में विकास कार्यो के लिए मुख्यमंत्री रावत का आभार प्रकट किया। विधायक जोशी ने कहा कि हमने चुनाव के दौरान जो घोषणाऐं की थी, उन्हें हम पूर्ण कर रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी की सरकार जीरो टॉलोरेन्स पर कार्य कर रही है और राज्य दिन दौगुनी रात चौगुनी तरक्की कर रहा है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने विधायक जोशी के अनुरोध पर माता संतला देवी मंदिर पहुॅच के लिए घंघोड़ा से 5.50 किमी सड़क निर्माण एवं गढ़ी कैंट में पेयजल आपूर्ति एवं वितरण हेतु ओवरहैड टैंक निर्माण की घोषणा भी की।कार्यक्रम में मण्डल अध्यक्ष पूनम नौटियाल, महामंत्री सुरेन्द्र राणा, सिकन्दर सिंह, आरएस परिहार, टीडी भूटिया, विष्णु गुप्ता, देवेन्द्र पाल सिंह, अनुज रोहिला, सीईओ कैंट जाकिर हुसैन, उषा शाही, वंदना बिष्ट, दीपक पुण्डीर, लक्ष्मण रावत, समीर पुण्डीर, संध्या थापा, विक्की, महाजन, विजेन्द्र उनियाल, कई पार्षदगण एवं कैंट सभासदगण उपस्थित रहे।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar