National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

यमुना एक्सप्रेस-वे हादसाः आगरा, यमुना एक्सप्रेस वे पर कई वाहन आपस में टकरा गए

बुधवार सुबह दिल्ली एनसीआर, नोएडा, पश्चिमी यूपी, ग्रेटर नोएडा में कोहरे की चादर बिछ गई। इस धुंध की वजह से आज कई बड़े हादसे होते होते बचे। आगरा, यमुना एक्सप्रेस वे पर कई वाहन आपस में टकरा गए। इन हादसों में कई लोग घायल भी हुए हैं। मेरठ, ग्रेटर नोएडा में आज सुबह दो हादसे हुए जिसमें एक दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए।
यमुना एक्सप्रेस वे पर कोहरे के कारण एक के बाद एक 10 वाहन आपस में टकरा गए। इसमें छह लोग घायल हो गए। घायलों को कैलाश अस्पताल में भर्ती कराया गया। सभी ही हालत ठीक है।
जीरो प्वाइंट से 10 किलोमीटर दूर दनकौर के पास आगरा से नोएडा की तरफ आते समय बुधवार सुबह हादसा हुआ। इस हादसे में एक के बाद 10 गाड़ियां टकरा गईं। इसमें 6 लोग घायल हुए हैं। सभी को कैलाश अस्पताल लाया गया। लोगों को मामूली चोट लगी है। कैलाश अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद सभी छुट्टी देने की तैयारी है। हादसे का शिकार लोग दिल्ली के बताए जा रहे हैं।
बताया जाता है कि जब दो वाहन टकराए तो इसकी सूचना यमुना एक्सप्रेस वे और पुलिस को दी गई। लेकिन कोई समय पर नहीं पहुंचा। अगर समय पर पहुंच जाते इतने वाहन एक साथ टकराने से बच जाते।
मथुरा के अलावा नन्दगांव, बरसाना, कोसी आदि देहात के इलाके भी सुबह कोहरे की गिरफ्त में रहे। इससे वाहनों का रफ्तार थम गया। सड़क और रेलमार्ग दोनों यातायात प्रभावित हुआ। वाहनो की लाइट जलानी पड़ी। सुबह 8:30 के बाद भी धुंध छाई रही। वहीं कोसी के कोटवन चौकी पर एक के बाद एक लगातार 4-5 गाड़ियां एक-दूसरे से भिड़ गईं। हालांकि कोई हताहत नहीं हुआ। आज दृश्यता काफी कम रही। कुछ मीटर की दूरी पर भी दिखाई नही दे रहा था। स्कूली बच्चे गर्म कपड़ों में निकले।

आगरा एक्सप्रेस वे पर भिड़े दर्जनों वाहन
आगरा एक्सप्रेस वे पर महावन थाना क्षेत्र के माइल स्टोन 125 के पास दिल्ली से आगरा की तरफ ट्रक पलट गया। कोहरे के चलते उसमें बस, ट्रक, कार व अन्य दर्जनों वाहन टकराते गए। इससे कुछ लोग घायल भी हो गए। यातायात प्रभावित हुआ।
मौके के लिए निकले एसपी देहात आदित्य शुक्ला ने बताया कि अभी भिड़े वाहनों और घायलों की निश्चित संख्या की जानकारी नहीं है। दो लोग गंभीर घायल हैं, जिन्हें अस्पताल भेजा गया है। क्रेन मंगाकर ट्रक व क्षतिग्रस्त अन्य वाहन हटाये जा रहे हैं।
जैथरा के एटा अलीगंज रोड पर कोहरे में चार वाहन भिड़ गए। इसमें दिल्ली से आने वाली बसें शामिल थीं। इस हादसे में 4 लोग घायल हो गए। रोडवेज बस और टैंकर में टक्कर में घायल बस चालक को रेफर किया गया है।
पश्चिमी यूपी में मेरठ और आसपास के जिलों में धुंध-कोहरे ने जनजीवन बाधित कर दिया है। दूसरे दिन भी रात से सुबह तक दृश्वता बहुत कम रही। मोसम विभाग के अनुसार, मेरठ में सबसे कम दृश्यता 200 मीटर दर्ज की गई है। धुंध का जनजीवन पर बहुत असर हुआ है। वाहनों की रफ्तार पर ब्रेक लग गए हैं।
दूर तक नहीं देख पाने की वजह से मेरठ-सहारनपुर मंडल में अब तक कई जगह हादसे सामने आए हैं। इसमें पांच लोगों की मौत और 20 से अधिक लोग घायल हो गए हैं। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि अगले दो दिन में तेज हवाएं चलना शुरू होंगी। इसके बाद बारिश के आसार है। हवा और बारिश ही धुंध से राहत दिला सकती है। बुलंदशहर में प्रशासन को खराब मौसम को देखते हुए स्कूलों की छुटट्टी भी करनी पड़ी है।

सावधानी बरतें

  • जब दृश्यता कम हो तब अपनी गाड़ी की हेडलाइट कम कर दें, गाड़ी की स्पीड का ध्यान रखें। धुंध गाड़ी की लाइट पर रिफ्लेक्ट होती है, ऐसे में चालक को कुछ नहीं दिखाई देता।
  • ट्रैफिक धुंध के दौरान ज्यादा होता है, लेकिन आप जल्दबाजी में न रहें। हाथ में समय लेकर घर से निकलें ताकि आपको एक्सप्रेस वे पर गाड़ी को भगाना न पड़े। अपना म्यूजिक बंद रखें ताकि हॉर्न सुनाई दे।
  • इंडिकेटर का इस्तेमाल जरूर करें, ताकि सड़क पर चलने वाली सभी गाड़ियों को पता चले कि कौन किस दिशा में जा रहे हैं।
  • एक ही लेन पर चलें बार बार सड़क पर अपना रूख न मोड़ें। अपने गाड़ी का शीशा साफ रखें।
  • ओवरटेक करने की कोशिश न करें, एक गाड़ी से दूसरे की दूरी बैलेंस्ड रहे। सड़क पर फोकस बनाकर ही ड्राइव करें। घर से निकलने से पहले कुछ मौसम का हाल चाल लेते हुए निकलें।

घने कोहरे के चलते गांव रुस्तमपुर के पास स्कूल बस सामने से आ रहे ट्रैक्टर से टकरा गई। जिससे बस में सवार करीब आधा दर्जन बच्चे घायल हो गए। जिन्हें प्राथमिक उपचार के बाद घर भेज दिया गया।कस्बा रबूपुरा स्थित निजी स्कूल की बस सुबह करीब 8 बजे मोहम्दाबाद खेडा से बच्चों को लेकर रूस्तमपुर गांव के बच्चों को लेने जा रही थी। इसी दौरान रजबाहे के किनारे रास्ते पर गांव रूस्तमपुर के पास हादसा हो गया। घने कोहरे की बजह से बस चालक देख नहीं सका और बस सामने से आ रहे ट्रैक्टर से टकरा गई। हालांकि हादसे में किसी बच्चे को गम्भीर चोट नहीं आई। मामूली रूप से चोटिल करीब आधा दर्जन बच्चों को चिकित्सक के यहां दिखाया गया।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar