National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

‘यादों के इडियट बॉक्स विथ नीलेश मिश्रा का पांचवा सीजन

नई दिल्ली। स्टोरीटेलिंग का यह जाना-माना शो इस कैटेगरी के विज्ञापनदाताओं के बीच काफी चहेता है। इसका नया सीजन 2 जुलाई को शुरू हो रहा है, वीकडेज में रात 10 बजे, प्रसारित होने वाला यह शो देश के 53 स्टेशनों पर प्रसारित किया जायेगा। इस पर सुनाई जाने वाली दिल को छू लेने वाली फिक्शन आधारित थीम कहानियों की स्क्रिप्ट नीलेश और उनकी ‘मंडली’ (लेखकों की टीम) तैयार करती है। भारत के सबसे बड़े रेडियो नेटवर्क्स में से एक 92.7 बिग एफएम फिर लेकर आया है ‘यादों का इंडियट बॉक्स विथ नीलेश मिश्रा’। यह एक जाना-माना शो है। जो सही मायने में रेडियो पर स्टोरीटेलिंग जोनर में सबसे ऊपर है। चार सीजन तक कहानियां सुनाकर श्रोताओं को लुभाने वाला यह शो ना केवल श्रोताओं के बीच बेहद लोकप्रिय रहा है, बल्कि इस कैटेगरी के विज्ञापनदाताओं के बीच भी रहा है। इन कहानियों के जादुई कथाकार, नीलेश मिश्रा में श्रोताओं के जे़हन में थियेटर वाला अनुभव देने की काबिलियत है। ‘यादों का इडियट बॉक्स’ अपने पांचवें एडिशन के साथ स्तर को और बढ़ाने और श्रोताओं को कहानी सुनने का लाजवाब अनुभव देेने को तैयार हैं। 53 स्टेशनों पर प्रसारित होने वाली इस नवीनतम प्रस्तुति में आम लोगों की अनोखी कहानियां सुनाई जायेंगी और इसका प्रसारण 2 जुलाई, 2018 से शुरू होगा। यह वीकडेज पर रात 10-11 बजे के बीच प्रसारित होगा। ‘यादों का इडियट बॉक्स विथ नीलेश मिश्रा’ के लॉन्च के मौके पर, आशीष चटर्जी, चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर, रिलायंस ब्रॉडकास्ट नेटवर्क लिमिटेड ने कहा, ‘‘यादों का इडियट बॉक्स’ का पांचवां सीजन पूरे नेटवर्क में ब्रांड और निष्ठापान श्रोता की याद दिलाता है। यह एक ऐसा शो है, जिसने ब्रांड पर काफी बड़ा प्रभाव डाला है और विज्ञापनदाताओं के लिये क्लटर ब्रेकिंग समाधान प्रस्तुत करने का अनूठा मौका मिला है। हमने एकीकृत पेशकश, कई सारे एफसीटी और डिजिटल स्पाइक्स के साथ, ब्रांड के साथ लंबे समय की साझीदारी के बारे में बात की है। ’’‘यादों का इडियट बॉक्स विथ नीलेश मिश्रा’ के पांचवें सीजन के बारे में, कंट्री हेड, थ्वांग बिग, सुनील कुमारन ने कहा, ‘‘इस शो के फॉर्मेट के साथ नीलेश के अद्भुत अंदाज ने बहुत ही दुर्लभ मेल तैयार किया है। यह रेडियो पर अपने तरह की पहली और सबसे मनोरंजक प्रस्तुति है। नीलेश देश के बेहतरीन वक्ताओं में से एक हैं और वह अपना अनोखा अंदाज इस शो में लेकर आये हैं। इस शो को सहज ही लोकप्रियता दिलाने वाले इस शो को काफी अच्छी प्रतिक्रियाएं मिली हैं और इससे जुड़े सभी हितकारकों के लिये यह एक लाभकारी प्रस्तुति बनी रहेगी। यह नया सेशन उस बदलाव का प्रतिबिंब होगा, जिस विकास के रास्ते पर भारत आगे बढ़ा है। हमें इस बात का पूरा यकीन है कि यह शो रेडियो लिसनरशिप में नया मानक तय करेगा।’’बिग एफएम के साथ जुड़ने और ‘यादों का इडियट बॉक्स’ के सीजन 5 के बारे में नीलेश मिश्रा कहते हैं। ‘‘बिग एफएम ही शायद एकमात्र ऐसा नेटवर्क है जिनके पास रेडियो पर स्टोरीटेलिंग शो लाने की हिम्मत थी, जहां हम पहली बार 2011 में ‘यादों का इडियट बॉक्स’ लेकर आये थे। इस फॉर्मेट पर पक्का यकीन करने और नेटवर्क के विस्तार के साथ, बिग एफएम ने इस शो के साथ पूरा न्याय किया है। दोबारा बिग एफएम परिवार का हिस्सा बनकर काफी अच्छा महसूस हो रहा है, साथ ही ‘यादों का इडियट बॉक्स’ दोबारा लाने का इंतजार है।’’
एक बार फिर श्रोताओं को बेहतरीन अनुभव देने के इरादे से, नीलेश मिश्रा और लेखकों की उनकी सफल टीम दिल को छू लेने वाली कहानियां तैयार कर रही हैं। जिस बदलते देश में हम रह रहे हैं, ये कहानियां उनके इर्द-गिर्द बुनी गई हैं। ‘यादों का इडियट बॉक्स’ ने अभूतपूर्व सफलता हासिल की है और खुद अपनी एक विरासत तैयार की है। यह शो अपने पूर्व के सीजन में कई सारे रिकॉर्ड्स को तोड़कर लाखों श्रोताओं तक पहुंचा है। भारत में सबसे ज्यादा पसंद किये जाने वाले रेडियो शो की प्रस्तुति को काफी पुरस्कार मिले, जैसे हिन्दी कैटेगरी के अंतर्गत बेस्ट रेडियो प्रोग्राम का पुरस्कार मिला है। 2016 में आईआरएफ में आरजे ऑफ द ईयर का पुरस्कार मिलने के साथ कई और पुरस्कार मिले।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar