National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

कैंसर पीड़ित बच्चों ने दिया कैंसर से बचने का संदेश

दिल्ली। 1.3 अरब से अधिक आबादी वाले देश में, कैंसर के हर साल कई नए मामले सामने आते हैं। धीरे- धीरे कैंसर से पीड़ित लोगों के आंकड़ों में माताओं और बच्चों की संख्याएं बढ़ती ही जा रही है। माताओं और बच्चों में कैंसर जैसे गंभीर रोग के प्रति जागरूकता लाने के उद्देश्य से उत्तर भारत के एक अग्रणी हेल्थकेयर नेटवर्क मैक्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल, पटपड़गंज ने आज दिल्ली में “तरंग“ नामक बेहतरीन पहल का आयोजन किया। कार्यक्रम का आयोजन कार्तियायानी सामाजिक सांस्कृतिक परिसर, मयूर विहार में किया गया था।
“तरंग“ में छोटे बच्चों के साथ उनके माता-पिता, शिक्षकों और साथ ही अन्य शहर के प्रमुख डॉक्टरों ने भी भाग लिया। कार्यक्रम में ड्राइंग, फैशन शो, ग्रुप डांस जैसी प्रतियोगिताएं में, विवेकानंद इंटरनेशनल स्कूल आईपी एक्सटेंशन, सेंट एंड्रयूज स्कॉट सीनियर सेकेंडरी स्कूल, हिलवुड अकादमी – प्रीत विहार, और रॉकमैटिस अकादमी- गीता कॉलोनी के कई छात्रों ने भाग लिया।
मैक्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल, पटपड़गंज से डॉक्टरों की टीम उपस्थित थी, जिन्होंने सभी को प्रारंभिक निदान और आत्म- परिक्षण के महत्व के बारे में बताया। कार्यक्रम में कैंसर का इलाज करा रहे बच्चों ने भी डांस और ड्राइंग प्रतियोगिताओ में हिस्सा लिया। कैन किड्स सर्वाइवर्स ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से सबके समक्ष हौसले की एक मिसाल कायम की। कार्यकर्म में 70 माता – पिताओं ने भी हिस्सा लिया।
श्री नीरज मिश्रा (मैक्स हैल्थकेयर, जोन 2 के डायरेक्टर) ने कहा, “एक स्वस्थ जीवन शैली को अपनाते हुए नियमित जांच और रखरखाव से इस जानलेवा बीमारी को रोका जा सकता है। महिलाओं को ब्रैस्ट कैंसर और सर्वाइकल कैंसर जैसे दो कैंसर सबसे अधिक प्रभावित करते हैं, समय पर रोकथाम से हम जल्दी से ठीक हो सकते हैं। दवाइयों के जरिए कैंसर को जड़ से खत्म किया जा सकता है और एक कीमती जान बच सकती है।
श्री नवीन गोयल (उपाध्यक्ष -ऑपरेशन्स मैक्स हॉस्पिटल, पटपड़गंज ) ने बताया, की “बच्चे हमारे देश का उज्जवल का भविष्य हैं, और यह हमारा कर्तव्य है की हम इसे बिमारियों से बचा कर स्वस्थ रखें। कैंसर सबसे अधिक जानलेवा बिमारियों में से एक है, कई लोगों को इसके बारे में पूर्ण जानकारी नहीं है। ऐसे में एक स्वास्थ्य सेवा प्रदाता होने के कारण यह हमारा कर्तव्य है की हम अपने देश के नागरिकों को जागरूक करें। बच्चों में एक बेहतरीन रचनात्मक भाव छुपा होता है, जिसे व्यक्त करने के लिए एक मंच की आवश्यकता होती है। तरंग हमारे देश के आने वाले भविष्य को सुरक्षित करने की और एक छोटी पहल है।
डॉ. हरित चर्तुवेदी (कैंसर केयर के चेयरमैन और सर्जिकल ऑन्कोलॉजी के निर्देशक, मैक्स हेल्थकेयर) ने अपने अनुभवों को व्यक्त करते हुए बताया की “पिछले कई अध्ध्यनों के आंकड़े बताते हैं कि हर आठ महिलाओं में से एक महिला को आक्रामक ब्रैस्ट कैंसर कभी भी हो सकता है। एक माँ का जीवन सबसे अस्त व्यस्त होता है। उन्हें अपने स्वास्थ्य के साथ अपने घर सभी सदस्यों के बारे में भी सोचना होता है, इसलिए सभी महिलाओं को अपने बारे में विचार करते हुए कैंसर से लड़ने के लिए तैयार रहना चाहिए”। डॉक्टरों की टीम ने उपस्थित सभी लोगों को नियमित स्क्रीनिंग और स्वस्थ जीवनशैली के महत्व के बारे में बताते हुए कैंसर के खिलाफ लड़ाई में शामिल होने के लिए भी प्रोत्साहित किया।
तरंग एक अनोखी पहल है, जो की बचपन में होने वाले कैंसर से बचने के लिए छोटे पैमाने पर सहायता प्रदान करने के लिए शुरू किया गया है, जिसमें बच्चों और उनके माता-पिता एवम परिवार वालों को भी शामिल किया गया, इस मुहीम का प्रथम विचार कैंसर जागरूकता को बढ़ावा देते हुए मैक्स और आस-पास के डॉक्टरों को मैक्स इंस्टिट्यूट ऑफ़ कैंसर केयर, मैक्स हेल्थकेयर के बारें में बताना, की मैक्स किस प्रकार से समाज को सेवा प्रदान करने का कार्य कर रहा है।
मनुष्य के जीवन में तरंग का तात्पर्य एक नयी ऊर्जा के परवाह से है। तरंग के माध्यम से हम भविष्य के चैंपियंस को सही देखभाल और प्राथमिक चिकित्सा प्रदान करेंगे।
मैक्स हेल्थकेयर के बारे में
मैक्स हेल्थकेयर देश का अग्रणी और सबसे अत्याधुनिक एवं पूर्ण सुविधाओं वाला हॉस्पिटल समूह है जिसके देश भर मे 14 हॉस्पिटल्स है। इस ग्रुप को 29 से अधिक विशेष स्वास्थ्य प्रक्रियाओं मे महारथ हासिल है। मैक्स समूह मे 2300 से अधिक अनुभवी और कुशल डॉक्टर है जो अंतरराष्ट्रीय स्तर कि सेवाएं और चिकित्सा प्रदान करते है। हमारे एनएबीएच् और आईएसओ मानकीकृत हॉस्पिटल मरीजों को उपयुक्त पैसो मे सर्वश्रेष्ठा चिक्तिसा सेवा प्रदान करते है। हमारा मानना है कि घर के बाहर इलाज कराना बेहद शारीरिक और मानसिक परेशानियां देता है लेकिन हम मैक्स के अंतर्गत एक खुशनुमा माहौल मे सुविधाएं और इलाज प्रदान करते है जिससे मरीज को अपने घर मे रहने जैसा सुख और सुकून का एहसास हो।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar