National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

राम मंदिर निर्माण की मांग को लेकर दिल्ली में संतों का जमावड़ा आज

नई दिल्ली । अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण की रणनीति की घोषणा के लिए दिल्ली के रामलीला मैदान में रविवार को विराट धर्मसभा का आयोजन होगा। इस दौरान रामलीला मैदान में देशभर से करीब 35 धर्मगुरु, साधु संत राम मंदिर निर्माण के लिए आव्हान करेंगे। करीब 50 हजार लोगों के जुटने की भी उम्मीद है।
मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है, ऐसे में सभी धार्मिक संस्थाएं और धर्म गुरु चाहते हैं कि बीजेपी राम मंदिर पर अध्यादेश लाए और कानून बनाकर जल्द से जल्द राम मंदिर का निर्माण हो।
रामलीला मैदान में कल सुबह 11 बजे विराट धर्मसभा में जूना अखाड़ा पीठाधीश्वर महा-मण्डलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरी जी महाराज, श्रीजगन्नाथ पीठाधीश्वर जगदगुरु रामानंदाचार्य स्वामी हंसदेवाचार्य जी महाराज, गीता मनीषी महा-मण्डलेश्वर स्वामी ज्ञानानंद जी महाराज, युग पुरुष परमानंद जी महाराज, वात्सल्य ग्राम संस्थापक दीदी मां साध्वी ऋतंभरा, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सरकार्यवाह सुरेश (भैया जी) जोशी, विश्व हिन्दू परिषद् के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष न्यायमूर्ति (सेवानिवृत) श्री विष्णु सदाशिव कोकजे एवं कार्याध्यक्ष एडवोकेट आलोक कुमार सहित अनेक संत व गणमान्य लोग सभा को संबोधित करेंगे। इस धर्मसभा के चलते कई जगह ट्रैफिक को रोकना पड़ा है, प्रशासन ने एहतियातन रविवार को रामलीला मैदान के इर्दगिर्द की सभी दुकाने शाम तक बंद रखने के आदेश दिए हैंl वहीं सेंट्रल दिल्ली आने वाली कई सड़को को यातायात के लिए बंद या डाइवर्ट किया गया हैl जिसमें रंजीत सिंह फ्लाइओवर से गुरुनानक चौक से बाराखंबा रोड तक, राजघाट से दिल्ली गेट और चमनलाल मार्ग पर आमजन के लिए ट्रैफिक रोक दिया गया हैl
सुरक्षा को देखते हुए 5000 पुलिसकर्मी, अर्धसैनिक बल की 10 कंपनियां तैनात की गई हैl दिल्ली के कुछ स्थानों पर धर्मसभा के विरोध में पोस्टर भी लगे हैं, जिसे देखते हुए सोशल मीडिया पर भी नजर रखी जा रही है और साइबर सेल की एक विशेष टीम अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए लगातार मॉनिटरिंग कर रही हैl शनिवार को पुलिस मुख्यलय में हुई बैठक में उन अधिकारियों को खास तौर पर इस काम के लिए नियुक्त किया गया है जिनका कानून व्यवस्था बनाए रखने में अच्छा रिकॉर्ड रहा हैl बैठक के बाद सभी एडिशनल डीसीपी को रामलीला मैदान तैनात किया गया हैl

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar