न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

राष्ट्रीय गौरव की जीवंत प्रतिमूर्ति थे माखनलाल चतुर्वेदी: दयानंद वत्स

131वीं जयंती पर शिक्षा एवं पत्रकारिता के महानतम पुरोधा साहित्यकार स्वर्गीय माखनलाल चतुर्वेदी को श्रद्धा सुमन अर्पित किए,

राष्ट्रीय गौरव की जीवंत प्रतिमूर्ति थे माखनलाल चतुर्वेदी: दयानंद वत्स

विजय न्यूज़ ब्यूरो
नई दिल्ली। अखिल भारतीय स्वतंत्र पत्रकार एवं लेखक संघ एवं रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया(ए) के संयुक्त तत्वावधान में संघ के मुख्यालय बरवाला में आर.पी.आई(ए) दिल्ली प्रदेश के उपाध्यक्ष, प्रवक्ता एवं पश्चिमी दिल्ली से.लोकसभा के प्रत्याशी दयानंद वत्स की अध्यक्षता में आज हिंदी के सुप्रसिद्ध साहित्यकार, कवि, लेखक, पत्रकार एवं शिक्षाविद एवं स्वतंत्रता सेनानी स्वर्गीय माखनलाल चतुर्वेदी की 131वीं जयंती सादगी और श्रद्धा पूर्वक मनाई गई। वत्स ने चतुर्वेदी जी के चित्र पर माल्यार्पण कर.उन्हें कृतज्ञ राष्ट्र की और से श्रद्धा सुमन अर्पित किए गए।
अपने संबोधन में श्री दयानंद वत्स ने कहा कि स्वर्गीय माखनलाललाल चतुर्वेदी हिंदी साहित्य, शिक्षा, पत्रकारिता के महानतम पुरोधा साहित्यकार, कवि, लेखक, शिक्षक एवं स्वतंत्रता सेनानी थे। प्रभा, कर्मवीर का उन्होंने संपादन किया। हिमतरंगिणी के लिए उन्हें साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। पुष्प की अभिलाषा नामक उनकी कविता आज भी भारतीय जनमानस में रची बसी है।
वत्स ने कहा कि माखनलाल चतुर्वेदी भारत के राष्ट्रीय गौरव की जीवंत प्रतिमूर्ति थे।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar