न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

रिजर्व बैंक को अब भी उम्मीद 6.7 प्रतिशत रहेगी विकास दर

मुंबई। चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में आर्थिक विकास दर 5.7 प्रतिशत और दूसरी तिमाही में 6.3 प्रतिशत रहने के बावजूद रिजर्व बैंक (आरबीआई) को उम्मीद है कि चालू वित्त वर्ष में विकास दर 6.7 प्रतिशत रहेगी।
चालू वित्त वर्ष की पाँचवीं मौद्रिक नीति समीक्षा के बाद आरबीआई गवर्नर उर्जित पटले ने आज कहा कि हाल में महँगाई दर बढ़ने और खरीफ मौसम में फसलों का उत्पादन घटने तथा रबी मौसम में बुवाई कम रहने से आर्थिक विकास पर नकारात्मक असर पड़ सकता है। वहीं, हालिया महीनों में ऋण उठाव में वृद्धि और सार्वजनिक बैंकों के पुन:पूँजीकरण के सरकार के फैसले से इस पर सकारात्मक असर पड़ेगा। इसके मद्देनजर मौद्रिक नीति समिति ने वित्त वर्ष 2017-18 के लिए विकास दर का पूर्वानुमान 6.7 प्रतिशत पर स्थिर रखा है।
यह पूछे जाने पर कि पूरे वित्त वर्ष के लिए 6.7 प्रतिशत की विकास दर हासिल करने के लिए तीसरी और चौथी तिमाही में विकास दर कितनी होनी चाहिये, श्री पटेल ने कहा कि आरबीआई का अनुमान है कि तीसरी तिमाही में यह सात प्रतिशत और चौथी तिमाही में 7.8 प्रतिशत रहेगी।

Print Friendly, PDF & Email
Tags:
Skip to toolbar