National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

रेयान केस: आरोपी ने 10 मिनट में की थी प्रद्युम्न की हत्या, ऐसे हुआ था खुलासा

रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुए प्रद्युम्न हत्याकांड में नित नई बातें सामने आ रही हों मगर पुलिस का दावा है कि कोर्ट में अशोक को हत्यारा ठहराने के लिए उनके पास पर्याप्त सबूत हैं। उन्होंने कहा है कि अशोक के लिए उनके पास मजबूत तकनीकी प्रमाण हैं। उन सबूतों का खुलासा नहीं किया जा सकता है। फोरेसिंक टीम ने भी जांच की गई है। पुलिस उसकी रिपोर्ट को भी कोर्ट में पेश करेगी।
एसआईटी टीम ने गुरुवार को भी स्कूल के टीचिंग स्टॉफ के बयान दर्ज किए। पुलिस ने सुबह 11 बजे पूरे स्टॉफ को बुलाया। इसके बाद बयान दर्ज किए गए। गौरतलब हो कि पुलिस को अगले 48 घंटे में चार्जशीट दाखिल करनी है। पुलिस आयुक्त संदीप खिरवार ने भी इसके संकेत दिए। खिरवार ने गुरुवार को मीडिया से कहा कि प्रद्युम्न की हत्या की आरोपी अभी बस कंडक्टर ही है। हम जल्द चार्जशीट दाखिल करेंगे। विश्वस्त सूत्रों के बताया कि गुरुवार को टीचिंग स्टॉफ की मौजूदगी में घटना की कड़ियों को जोड़ा गया। इसके बाद सिलसिलेवार ढंग से बयान लिखे गए। यह प्रक्रिया काफी लंबी चली।

10 मिनट में वारदात, 4 घंटे में चल गया था पता
‘विजय न्यूज़’ के हाथ लगी एक्सक्लूसिव जानकारी के अनुसार प्रद्युम्न की हत्या को महज 9-10 मिनट में अंजाम दिया था। पुलिस की चार्जशीट में इस नृशंस हत्या का एक-एक मिनट का ब्योरा दर्ज किया जा रहा है। पुलिस ने स्टॉफ से पूछताछ और घटनाक्रम की शुरुआती जांच के बाद अशोक को पकड़ा। इसके बाद अशोक से पूछताछ हुई। आमना-सामना कराया गया तो उसने पहले बाथरूम के पास अपनी मौजूदगी स्वीकारी, इसके बाद उसने अपना जुर्म कबूल किया। पुलिस ने कुछ इसी तरह से चार्जशीट में पूरी घटना का बताया है। पुलिस सूत्र बताते हैं कि वारदात के चार घंटे बाद आरोपी अशोक की पहचान कर ली थी।
पुलिस की गहन पूछताछ के बाद आरोपी अशोक को नौ घंटे बाद देर रात 9:30 बजे उसकी गिरफ्तारी डाली गई थी। पुलिस अधिकारी ने बताया कि जांच करने के बाद 12 बजे अशोक पर शक हो गया था और उसे पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया था। पुलिस ने अशोक को नौ घटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया गया था। अशोक ने पुलिस को बताया कि उसने ही प्रद्युम्न की हत्या की है।

सभी को किया था नजरबंद:
वारदात के बाद मौके पर अधिकारी पहुंच गए थे। उसके बाद स्कूल के सभी स्टॉफ को बाहर जाने की मनाही थी। जबकि बस कडेंक्टर और ड्राइवर को हिदायत दी गई थी कि बच्चों को घर छोड़ने के बाद दोबारा स्कूल में आना है। इस दौरान पुलिस ने स्कूल टीचर, स्टॉफ और अन्य लोगों से पूछताछ हुई थी। अशोक को बच्चों ने बाथरूम में आते-जाते हुए देखा था। इसके बाद पुलिस को अशोक पर शक हुआ और उसे पूछताछ के लिए बुलाया गया था।

सीबीआई जांच का साया
पुलिस के आरोप पत्र के बाद भी घटना को लेकर सवाल रहे तो सीबीआई जांच की संभावना बन सकती है। पुलिस इसी को ध्यान में रखकर फूंक-फूंककर कदम रख रही है। 90 के करीब लोगों से पूछताछ करने के बाद पुलिस बयानों का क्रॉस चेक कर रही है ताकि कोई विरोधभास न बचे। गौरतलब को कि प्रद्युम्न माता-पिता के साथ बड़ी संख्या में लोग सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं। राज्य सरकार ने भी इसके संकेत दिए हैं कि अगर पुलिस जांच से परिवार संतुष्ट नहीं होगा तो सीबीआई जांच की सिफारिश की जाएगी। इसी को देखते हुए पुलिस अशोक के साथ सीन रि-क्रिएट किया है। जांच के तमाम पड़ावों की वीड़ियोग्राफी भी करवाई गई है और हर पहलू पर दो बार जांच कर रही है।

मुंबई से लौटी जांच टीम
मुबंई में दो दिन की जांच के बाद गुरुग्राम पुलिस की एक टीम बुधवार देर शाम पहुंच गई थी। टीम के इंस्पेक्टर ने बृहस्पतिवार को पुलिस आयुक्त संदीप खिरवार से मिल कर अपनी रिपोर्ट सौंपी है। इसके साथ मुंबई में हुई जांच के बारे में भी बताया है। पुलिस सूत्रों की माने तो टीम ने जल्द से जल्द रेयान मेनेजमेंट के निदेशकों को गुरुग्राम में पेश होने का नोटिस भी देकर आए है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar