न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

लकी ड्रॉ के पैसे नहीं लौटने से क्षुब्ध युवक ने दी जान

आधा दर्जन लोगों के खिलाफ पुलिस ने दर्ज किया मामला

फरीदाबाद। लकी ड्रॉ स्कीम के जाल में फंसकर लाखों रुपये गंवाने पर पियाला गांव के एक युवक ने आत्महत्या कर दी। पुलिस ने इस संबंध में ड्रॉ संचालन करने वाले 6 लोगों के खिलाफ धारा 306 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस प्रवक्ता के अनुसार गांव पियाला के हरिकिशन ने बताया कि वह गांव में ही स्थित एलपीजी प्लांट में नौकरी करता है। उसके परिवार में पत्नी के अलावा दो बेटे पवन और रोहित हैं, जो शादीशुदा हैं। करीब 2 साल पहले उसके छोटे बेटे रोहित के पास शाहपुर खुर्द गांव का राहुल सोलंकी अपने साथ मोहना गांव निवासी सुरेंद्र अत्री, हसनपुर निवासी भीष्म चौहान, विशाल, अशोक और पंकज को लेकर आया था। सभी ने उसे बताया कि उन्होंने हैलो ग्रुप के नाम से एक लकी ड्रॉ शुरू किया है। हरिकिशन का कहना है कि उसका बेटा और वह इन लोगों की बातों में आ गए। इस ड्रॉ में उन्होंने गांव और रिश्तेदारों को भी शामिल करा दिया। आरोप है कि ड्रॉ पूरा होने के बाद हैलो ग्रुप के संचालकों ने न तो इनाम दिया और न ही रकम लौटाई। इस पर गांव के लोग उसके बेटे रोहित पर दवाब बनाने लगे। इस पर उन्होंने अपने बेटे रोहित को 8 लाख 84 हजार रुपये देकर गांव के लोगों को हिसाब चुकता करा दिया। तब से रोहित परेशान रहने लगा। पिता का कहना है कि उसका बेटा रोहित काफी समय से ड्रॉ संचालकों के पास रकम के लिए चक्कर लगा रहा था, लेकिन ये लोग रकम नहीं लौटा रहे हैं। आरोप है कि इसी के चलते उसके 25 साल के बेटे रोहित ने घर में फांसी लगाकर जान दे दी। एसएचओ हंसराज ने बताया कि इस मामले में मृतक रोहित के पिता हरिकिशन के बयान पर आरोपी ड्रॉ संचालकों मोहना गांव निवासी सुरेंद्र अत्री, हसनपुर निवासी भीष्म चौहान, विशाल, अशोक, राहुल व पंकज इत्यादि के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी के प्रयास शुरु कर दिए है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar