National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

लॉजिस्टिक्स जीएसटी करों की प्रक्रिय

जीएसटी की शुरूआत ने कई करों के एकीकरण को जन्म दिया

नई दिल्ली। साल पहले जीएसटी की शुरूआत ने कई करों के एकीकरण को जन्म दिया, जिसके बाद प्रक्रियाओं को सरल बना दिया गया। इसके कार्यान्वयन में ग्राहकों और लॉजिस्टिक्स कंपनियों के लिए समय लग रहा है, क्योंकि उन्हें बदले गए सिस्टम और उसके द्वारा मिलने वाले लाभों का आदी होने में समय लग रहा है। प्रारंभ में, इसने नए ऑर्डर और नकदी के प्रवाह को प्रभावित किया, क्योंकि ग्राहक बदलाव के साथ जूझ रहे थे। धाीरे-धाीरे, चीजें ट्रैक पर वापस आ रही हैं। वास्तविक धारातल पर ट्रकों के प्रति दिन चलने का समय बढ़ गया है। पिछले एक साल में, कई ग्राहकों और लॉजिस्टिक्स कंपनियों ने अधिाकतम परिचालन दक्षता प्राप्त करने के लिए पहले कर-कुशल मॉडल से आगे बढ़कर अपने गोदामों को समेकित कर दिया है। इसके अतिरिक्त, ई-वे बिल के आगमन के साथ डिजिटलीकरण के कारण महत्वपूर्ण समय बचने लगा है और कागजी कार्य में भी कमी आई है। ट्रकों में टनभार बढ़ाने की हालिया घोषणा से जनशक्ति और संसाधानों का अधिाकतम उपयोग भी संभव होगा। पूरी तरह से, महिंद्रा लॉजिस्टिक्स में हम मानते हैं कि जीएसटी लॉजिस्टिक्स क्षे= के सकारात्मक प्रभाव के साथ लंबी अवधिा में एक महत्वपूर्ण नियामक परिवर्तन साबित होने वाला है।

Print Friendly, PDF & Email
Tags:
Skip to toolbar