National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

वरिष्ठ साहित्यकार पद्मश्री डॉ. श्याम सिंह की 80वीं जयंती मनाई

नई दिल्ली। रिसर्च फॉउन्डेशन एवं इंटरनेशनल गुडविल सोसायटी के तत्वावधान में आज सिविल सर्विसेज अधिकारी संस्थान , विनय मार्ग, चाणक्यपुरी, नई दिल्ली में वरिष्ठ साहित्यकार पद्मश्री डॉ. श्याम सिंह शशि की 80 वीं जयंती प्रेरणा दिवस के रुप में पद्म विभूषण डॉ. सत्यव्रत शास्त्री की अध्यक्षता एवं शिक्षाविद् दयानंद वत्स, डॉ. रिचा सिंह के सान्निध्य मे यायावर दिवस के रुप में सादगी एवं श्रद्धा पूर्वक मनाई गई।
राज्यसभा के पूर्व महासचिव डॉ. योगेंद्र नारायण समारोह में मुख्य अतिथि थे। इस अवसर पर अखिल भारतीय स्वतंत्र पत्रकार एवं लेखक संघ के महासचिव शिक्षाविद् दयानंद वत्स ने डॉ. श्याम सिंह शशि को संघ की और से शाल और स्मृति चिन्ह भेंटकर उन्हें उनके जन्मदिन की शुभकामनाएं दीं.और उनके दीर्घायु की कामना की। इस अवसर पर संस्कृति मंत्रालय की हिंदी सलाहकार समिति के सदस्य श्री बी.एल गौड, नागरिक लिपि परिषद के महासचिव डॉ. हरि सिंह पाल, सुप्रसिद्ध कत्थक नृत्यांगना नलिनी कमलिनी, कत्थक गुरूजी जितेंद्र महाराज, आकाशवाणी के सहायक निदेशक श्री आलोक कुमार सिंह, यू.एन संस्थान के निदेशक प्रोफसर एस.एस भाखरी, गुडविल सोसायटी के सचिव श्री अमित जैन, शिक्षाविद् दयानंद वत्स, सीमा सुरक्षा बल के आई. जी.पी श्री अनिरुद्ध अस्थाना, डॉ. शिव शंकर अवस्थी, डॉ. संगीता मिश्र, श्री अवधेश सिंह, सी.एस.आर फॉउंडेशन के अध्यक्ष श्री दीनदयाल सहित बडी संख्या में विद्वान साहित्यकार एवं लेखक उपस्थित थे। समारोह का संचालन चाणक्य वार्ता के श्री अमित जैन ने किया।
अपने संबोधन में श्री दयानंद वत्स ने कहा कि डॉ. श्यामसिंह शशि हिदी और अंग्रेजी के मूर्धन्य विद्वान साहित्यकार हैं। उन्होने सौ से भी अधिक रचनाओं को लिखा है जिनमें उनके महाकाव्य अग्नि सागर पर विभिन्न विश्वविद्यालयों में शोध हो चुके हैं। डॉ. शशि प्रकाशन विभाग में पूर्व महानिदेशक भी रह चुके हैं। सिविल सर्विसेज ऑफिसर संस्थान, विनय मार्ग, चाणक्यपुरी, नई दिल्ली के सभागार में अखिल भारतीय स्वतंत्र पत्रकार एवं लेखक संघ के राष्ट्रीय महासचिव शिक्षाविद् दयानंद वत्स सुप्रसिद्ध साहित्यकार पद्मश्री डॉ. श्यामसिंह शशि को उनके 80वें जन्मदिन पर संघ की और से शाल और स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित करते हुए। साथ में राज्यसभा के पूर्व महासचिव डॉ. योगेंद्र नारायण, संस्कृति मंत्रालय की हिंदी सलाहकार समिति के सदस्य श्री बी.एल गौड, पद्म विभूषण डॉ. सत्यव्रत शास्त्री, डॉ. रिचा सिंह।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar