National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

वाजपेयी सरकार में हुई कश्मीरी पंडि़तों की घर वापसी : विपुल गोयल

उद्योगमंत्री ने किया एक करोड़ की लिंक रोड का शुभारंभ

फरीदाबाद।  अगर वाजपेयी सरकार के बाद 10 साल कांग्रेस ने तुष्टिकरण की राजनीति के चलते हुर्रियत नेताओं पर नरमी ना दिखाई होती तो अब तक कश्मीरी पंडितों की घर वापसी हो गई होती। ये विचार उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने अनंगपुर गांव में हरि पर्वत पर स्थित मां सारिका देवी मंदिर के लिए करीब 1 करोड़ की लागत से लिंक रोड के निर्माण कार्य का शुभारंभ करते हुए व्यक्त किए। इस लिंक रोड का निर्माण दो चरणों में किया जाना है। इस मौके पर विपुल गोयल ने सारिका देवी मंदिर परिसर में कश्मीरी पंडितों के लिए मेमोरियल बनाने का भी एलान किया और 21 लाख रूपये अपने स्वैच्छिक कोष से देने की घोषणा की। कश्मीर में सारिका देवी मंदिर की तरह फरीदाबाद के अनंगपुर गांव में भी उसी रूप में मंदिर की स्थापना की गई थी लेकिन लिंक रोड ना होने की वजह से भक्तों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। विपुल गोयल ने कहा कि इस मंदिर को पर्यटन केंद्र के तौर पर विकसित करने के लिए वो पूरी कोशिश करेंगे। इस मौके पर विपुल गोयल का कश्मीरी पौशाक पहनाकर कश्मीरी सेवक समाज ने सम्मान किया। विपुल गोयल ने कहा कि कश्मीरी हिंदुओं की वापसी के बिना कश्मीर स्वर्ग नहीं बन सकता और कश्मीर में शांति की स्थापना कर कश्मीरी हिंदुओं को उनके घर दिलाना सरकार का दृढ़ संकल्प है। विपुल गोयल ने कहा कि कांग्रेस ने 10 साल तक तुष्टिकरण की राजनीति कर पाकिस्तान के टुकड़ों पर पलने वाले हुर्रियत नेताओं को ढ़ील देने का काम किया ,अगर ऐसा ना होता तो आज वहां के बहकाए हुए युवा सेना पर पत्थर ना फेंकते । विपुल गोयल ने कहा कि कश्मीरी हिंदुओं की घर वापसी बीजेपी सरकार में ही होगी। इस कार्यक्रम से पहले पूर्व सांसद और बीजेपी विधायक अवतार सिंह भड़ाना ने भी गीता भेंट कर विपुल गोयल का अपने गांव में स्वागत किया। अनंगपुर गांव में विपुल गोयल का कई जगहों पर भव्य स्वागत किया गया। जिसके बाद कश्मीरी सेवक समाज के कार्यक्रम में अवतार सिंह भड़ाना समेत क्षेत्र के कई गणमान्य लोग उपस्थित रहे । इस मौके पर बीजेपी नेता राजेश नागर, सिद्धार्थ कौल, सुधीर सौपार्य, कश्मीरी सेवक समाज के प्रेजीडेंट एस के हांडू, ओमपाल, रमेश रैना, पूर्ण पटवारी, डॉ आई के कल्याण, रतन पाल ,प्रभु राजदान, किशन ठाकुर समेत अनेक गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

 

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar