National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

वानखेड़े स्टेडियम में अंतरराष्ट्रीय वनडे में 21 साल बाद कोई भारतीय बल्लेबाज शतक बना पाया

मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम के लिए रविवार को भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया पहला वनडे यादगार बन गया। इस मैदान पर अंतरराष्ट्रीय वनडे में 21 साल बाद कोई भारतीय बल्लेबाज शतक बना पाया। यह कारनामा किया भारतीय कप्तान विराट कोहली ने।

कोहली ने रविवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ शतक लगाकर अपने 200वें वनडे को यादगार बना लिया। कोहली उस समय भाग्यशाली रहे जब 29 के स्कोर पर मिचेल सेंटनर ने उनका आसान कैच छोड़ा। कोहली ने इस जीवनदान का लाभ उठाकर शतक लगाते हुए अपने 200वें वनडे को यादगार बना लिया। उन्होंने टिम साउदी की गेंद पर 1 रन बनाते हुए शतक पूरा किया। उन्होंने इसके लिए 111 गेंदों का सामना किया।

इस मैदान पर इससे पहले किसी वनडे में भारतीय बल्लेबाज द्वारा शतक लगाने का मौका 1996 में आया था जब सचिन तेंडुलकर ने शतक लगाया था।

सचिन ने 14 दिसंबर 1996 को खेले गए मैच में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 114 रनों की पारी खेली थी। सचिन के इस शतक की मदद से भारत ने मोहिंदर अमरनाथ सहायतार्थ यह मुकाबला 74 रनों से जीता था।

इस मैच के बाद और टीम इंडिया ने भारत-न्यूजीलैंड मैच से पहले तक भारत ने इस मैदान पर 9 अंतरराष्ट्रीय वनडे खेले, जिनमें से 5 में उसने जीत दर्ज की। हैरानी की बात यह रही कि इन 9 मैचों में भारत की तरफ से कोई भी बल्लेबाज शतक नहीं लगा पाया।

भारत ने इस दौरान बांग्लादेश, दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका और इंग्लैंड को हराया, लेकिन कोई भी भारतीय बल्लेबाज तिहरी रन संख्या तक नहीं पहुंच पाया। भारत ने इसी दौरान इसी मैदान पर 2अप्रैल 2011 को श्रीलंका को हराकर दूसरी बार विश्व कप खिताब अपने नाम किया था। इस दौरान भारत की तरफ से सर्वोच्च स्कोर 97 रन का था जो गौतम गंभीर ने 2011 विश्व कप फाइनल में बनाया था।

अब विराट ने शतक लगाकर वानखेड़े स्टेडियम में अंतरराष्ट्रीय वनडे में किसी भारतीय द्वारा शतक लगाने के 21 वर्ष के सूखे को खत्म किया।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar