National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

सऊदी अरब में महिलाएं अब गाड़ी तो चला सकती है, लेकिन ये 8 पाबंदियां अभी भी

रियाद। अब तक सऊदी दुनिया का एकलौता देश था जहां महिलाओं को ड्रायविंग करने का अधिकार नहीं था। लेकिन अब यह बैन हट गया है और सऊदी अरब में महिलाएं भी सड़कों पर गाड़ी चला सकेंगी। सऊदी अरब के शासक सलमान बिन अब्दुल अजीज अल सौद ने इसे लेकर आदेश जारी किया है। इसके बाद इस फैसले की दुनियाभर में सराहना हो रही है। यह एक अच्छी पहल हो सकती है लेकिन महिलाओं को दोयम दर्जे का समझने के मामले में सऊदी अरब वैसे भी बदनाम है। लेकिन अभी भी ऐसी कई पाबंदियां है जिन्हें देखकर साफ लगता है कि वहां महिलाओं को दोयम दर्जे का समझा जाता है। यहां देखिए सऊदी अरब में महिलाओं पर लागू कैसी-कैसी अजीब पाबंदियों हैं:

बार्बी नहीं खरीद सकतीं
सऊदी अरब में बार्बी को यहूदी खिलौना बताया गया है और उसके कपड़ों को गैर-इस्लामी करार दिया गया है। इसलिए महिलाएं उसे खरीद नहीं सकती।

चेंजिंग रूम में कपड़ों का ट्रायल नहीं ले सकतीं
उनका धर्म उन्हें अपने घर से बाहर निर्वस्त्र होने की इजाजत नहीं देता। लेकिन पत्रिका वेनिटी फेयर की पत्रकार मौरीन डॉड तर्क देती हैं कि ऐसा सिर्फ इसीलिए है क्योंकि ट्रायल रूम में महिला के बारे में सोचकर शॉपिंग स्टोर में मौजूद पुरुषों के लिए कंट्रोल रख पाना मुश्किल है।

पति की इजाजत के बिना बैंक अकाउंट नहीं
देश के किसी भी बैंक में महिलाओं के बैंक अकाउंट उनके पति की इजाजत के बाद ही खोले जाते हैं। अविवाहित महिलाओं के लिए तो इसकी मनाही ही है।

पुरुष के साथ के बिना कहीं नहीं जा नहीं सकती
सऊदी अरब में महिला यदि घर से बाहर निकल रही है, तो उसके साथ एक पुरुष रिश्तेदार का होना जरूरी है। ऐसा न होने पर महिला को हिरासत में ले लिया जाएगा। मान्यता है कि यदि महिला अकेले कहीं जाती है तो उसके बदचलन होने की संभावना रहती है।

वोट नहीं डाल सकतीं
दुनिया में सऊदी अरब ही ऐसा देश है, जहां महिलाओं ने कभी वोट नहीं दिया है।

स्विमिंग की मनाही
सऊदी अरब में महिलाओं के स्विमिंग करने पर भी पाबंदी है। वे पूल में नहाते पुरुषों की ओर देख भी नहीं सकतीं।

अंडर गारमेंट्स की शॉप पर काम नहीं कर सकतीं
सऊदी अरब में अब भी अंडरगारमेंट्स की शॉप पर पुरुष ही काम करते हैं। महिलाओं के लिए बैन है।

अन-सेंसर्ड फैशन मैगजीन नहीं पढ़ सकतीं
उसमें छपे फोटो इस्लाम की मान्यताओं से मेल नहीं खाते इसलिए महिलाएं नहीं पढ़ सकती। लेकिन पुरुष उन्हें पढ़ सकते हैं।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar