National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

साइडफेक्ट आफॅ जीएसटी : इलाज कराने आने वाले विदेशी घटे, चीन और थाईलैंड का कर रहे रुख

नई दिल्ली । मोदी सरकार के द्वारा देश में लागू की गई जीएसटी की वजह से भारत मेडिकल टूरिज्म के लिए पसंदीदा गंतव्य के रूप में अपनी चमक खो रहा है। दरअसल जीएसटी के बाद होटल के महंगे कमरे जैसे कारक मरीजों को चीन और थाईलैंड जैसे देशों का रुख करने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। पर्यटन मंत्रालय के नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, केन्या, नाइजीरिया, अफगानिस्तान और उजबेकिस्तान जैसे देशों से बड़ी तादाद में मेडिकल पर्यटक भारत आकर सुविधाओं का लाभ उठाते हैं। लेकिन उनके प्रवाह में कमी आई है। अफगानिस्तान से 2016 में 61,231 मेडिकल पर्यटक आए थे,लेकिन 2017 में उनकी संख्या घटकर 55,681 रह गई। इसी प्रकार, उजबेकिस्तान से 2016 में 9,564 मेडिकल पर्यटक आए थे, जो बीते साल घटकर 8,309 रह गए। नाइजीरिया और केन्या से 2016 में क्रमशः 9,277 और 8,701 मेडिकल पर्यटक आए थे, जो 2017 में क्रमश: 5,530 और 7,496 रह गए। पड़ोसी पाकिस्तान से आने वाले मेडिकल पर्यटकों की तादाद भी 2016 में 3,955 के मुकाबले पिछले वर्ष घटकर 1,785 हो गई। मंत्रालय में पर्यटन महानिदेशक सत्यजीत राजन ने कहा, मेडिकल पर्यटकों की संख्या में गिरावट का एक प्रमुख कारण भारत में होटलों पर लगने वाले माल और वस्तु सेवाकर (जीएसटी) में वृद्धि है। यह अब लगभग 28 फीसदी है। इससे पहले,यह कर की दर 18 से 19 फीसदी तक रहती थी। अन्य देशों में यह प्रतिशत बहुत कम है। उन्होंने कहा, इससे यह धारणा बनी है कि भारत अब चिकित्सा उपचार के लिए महंगा हो गया है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar